अतिरिक्त मुख्य सचिव ने लिया संभाग के पेयजल प्रबन्धन का जायजा

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने लिया संभाग के पेयजल प्रबन्धन का जायजा

पेयजल वितरण व्यवस्था की जानकारी ली

जोधपुर, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, खान, पेट्रोलियम एवं भूजल विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ.सुबोध अग्रवाल ने शुक्रवार को जोधपुर संभाग में पेयजल प्रबन्धन से जुड़े संयंत्रों एवं स्रोतों का जायजा लिया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने जलदाय अधिकारियों के साथ न्यू पॉवर हाऊस स्थित वॉटर फिलिंग स्टेशन, भगत की कोठी रेलवे स्टेशन पर वाटर ट्रेन जल भरण प्रक्रिया और तखत सागर स्थित जल शोधन संयंत्र पहुंच कर पेयजल वितरण तथा प्रबंधन की व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने लिया संभाग के पेयजल प्रबन्धन का जायजा

मुख्य सचिव डा. अग्रवाल ने न्यू पॅावर हाउस डिस्कॅाम परिसर में करीब 13 लाख 50 हजार लीटर क्षमता की डिग्गी में राजीव गांधी लिफ्ट नहर आधारित एवं तख्त सागर से प्राप्त हो रहे जल तथा वहां रेल को भरने के लिए स्थापित पम्पगृह का निरीक्षण किया।

उन्होंने भगत की कोठी रेलवे स्टेशन में ट्रेक पर लगी 40 टैंकरों की रेल में जल भरने की प्रक्रिया का निरीक्षण कर अधिकारियों को निर्देश दिए कि ट्रेन भरने की समयावधि में कमी लाकर वर्तमान में 48 घंटों में 6 से 7 रेल के फेरों को बढ़ाकर 8 फेरे कर प्रतिदिन 80 लाख लीटर जल परिवहन सुनिश्चित करें।

उन्होंने तखत सागर के समीप 90 एम एसडी फिल्टर संयंत्र का भी गहनता से निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को दूरस्थ स्थान पर जलापूर्ति के अंतिम छोर पर जल में न्यूनतम वांछित 0.5 पीपीएम क्लारीन की मात्रा का परीक्षण कर जीवाणु रहित जलापूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि वे खुली माईन्स में एकत्र होने वाले वर्षा जल को पुरानी फीडर नहरों के माध्यम से कायलाना में एकत्र करने के प्रस्ताव तैयार करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा की गई बजट घोषणा की पालना में उनकी अध्यक्षता में हाल ही आयोजित वित्त समिति की बैठक में राजीव गांधी लिफ्ट परियोजना के तृतीय चरण के कार्यो की निविदा को 1355.02 करोड़ लागत से स्वीकृति प्रदान कर दी गई है।

उन्होंने कहा कि इन कार्यो को गुणवत्ता पूर्ण एवं निर्धारित समयावधि में पूर्ण करवाया जाए ताकि जोधपुर शहर एवं अन्य लाभान्वितों की वर्ष 2054 की अभिकल्पित आबादी की पेयजल मांग सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने जोधपुर शहर की परिधीय क्षेत्र में विकसित होने वाली आवासीय कॅालोनियों में पेयजल विस्तार पर अधिकारियों से विस्तार से विचार-विमर्श किया।

जन स्वास्थ अभियांत्रिकी विभाग के मुख्य अभियंता जयपुर मुख्यालय एचएल चौहान ने बताया कि उनके द्वारा नगर निगम के लगभग 125 पार्षदों, शहर विधायक एवं अन्य जनप्रतिनिधियों से वार्ता कर अंतिम छोर पर जलापूर्ति की समस्या वाले क्षेत्रों का चिह्निकरण किया गया है तथा शीघ्र ही उन क्षेत्रों में नलकूप निर्माण की स्वीकृति जारी कर प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में त्वरित गति से नलकूप निर्माण करवाये जाएंगे।

इस अवसर पर मुख्य अभियंता जोधपुर नीरज माथुर,अतिरिक्त मुख्य अभियंता नक्षत्र सिंह चारण, जुगल करवा बाड़मेर, विनोद भारती जोधपुर, अधिशाषी अभियंता शेखर हर्ष एवं अजय छंगाणी आदि उपस्थित थे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews