three-day-national-level-cre-program-concluded

तीन दिवसीय राष्ट्रीय स्तर की सीआरई कार्यक्रम सम्पन्न

दिव्यांगजन के संवेधानिक अधिकारों व प्रावधानों पर मंथन

जोधपुर,शहर में तीन दिवसीय सीआरई कार्यक्रम विभिन्न मुद्दों पर हुई चर्चा के बाद सम्पन्न हो गया। नवज्योति मनोविकास विशेष शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय के प्रिंसिपल महेंद्र कुमार ने बताया कि आयोजन के तीसरे दिन प्रथम सत्र में सेमटर काउंटी इंटरमीडिएट स्कूल जॉर्जिया, अमेरिका के रिसोर्स पर्सन डॉ विनोद कुमार कालरा ने भारत में विशेष आवश्यकता वाले बालकों की समावेशी शिक्षा को बढ़ावा देने वाले विभिन्न संवेधानिक प्रावधानों के बारे में बताया।

दूसरे सत्र में सेठ रामदयाल राठी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, सूरतगढ़, श्रीगंगानगर के रिसोर्स पर्सन व वरिष्ठ विशेष शिक्षक डॉ संदीप गर्ग ने दिव्यांग बच्चों के लिए सरकारी योजनाओं और नीतियों को विस्तार पूर्वक समझाया। तीसरे सत्र में राष्ट्रीय बौद्धिक अक्षमता जन शक्तिकरण संस्थान के क्षेत्रीय कार्यालय के विशेष शिक्षा विभाग के सहायक आचार्य डॉ वसीम अहमद ने विकलांग व्यक्तियों के अधिकारों का स्तिथिजन्य विश्लेषण को वैधानिक चुनौतियों सहित समझाया।

चौथे सत्र में डॉ शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ उत्तरप्रदेश के प्राचार्य डॉ सीताराम पाल ने पुनर्वास में चुनौतियों और जोड़े गए नये दिव्यांग व्यक्तियों को शामिल करने एवं दिव्यंगजनो के वर्तमान आंकड़ों को विश्लेषण सहित समझाया, दिव्यांग जनों केअधिकारों पर चर्चा की। सीआरई के अंतिम सत्र में नवज्योति मनोविकास विशेष शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय के प्रिंसिपल व सहआचार्य डॉ महेंद्र कुमार ने दिव्यांगों के लिए संयुक्त राष्ट्रीय सम्मेलन (UNCRPD) के प्रावधानों एवं अनुच्छेदों को दिव्यांग व्यक्तियों के संदर्भ में विस्तार से समझाया।

कार्यक्रम के अंत में RCI द्वारा नियुक्त वेस्टर्न जॉन के कोर्डिनेटर डॉ श्रद्धा राय ने इस कार्यक्रम की सराहना की व प्रतिभागियों को अभिप्रेरित किया। संस्था अध्यक्ष सीपी संचेती ने डॉक्टर श्रद्धा राय का स्वागत किया एवं प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया अंत में डॉ महेंद्र कुमार ने सभी रिसोर्स पर्सन का प्रभावी एवं ज्ञानवर्धक व्याख्यान हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews