three-day-art-of-living-camp-of-railway-running-staff-concluded

रेलवे रनिंग स्टाफ का तीन दिवसीय आर्ट ऑफ लिविंग शिविर संपन्न

रेलवे रनिंग स्टाफ का तीन दिवसीय आर्ट ऑफ लिविंग शिविर संपन्न

सुदर्शन क्रिया से सीखी तनावमुक्त रहने की कला

जोधपुर,उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल पर कार्यरत रनिंग स्टाफ के बेहतर स्वास्थ्य के लिए आयोजित तीन दिवसीय आर्ट ऑफ लिविंग प्रशिक्षण शिविर सोमवार को सम्पन्न हुआ। मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय ने बताया कि मंडल के ट्रेन संचालन से जुड़े कर्मचारियों को कार्य के दौरान तनावमुक्त रखने और उनकी कार्य क्षमता में वृद्धि लाने के महत्ती उद्धेश्य से आयोजित शिविर में कर्मचारियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। आर्ट ऑफ लिविंग के अनुदेशकों रचना पुरोहित और मनीष असानी ने कर्मचारियों को आर्ट ऑफ लिविंग की विभिन्न क्रियाओं का गहन प्रशिक्षण दिया। शिविर में 50 कर्मचारियों ने भाग लिया।

ये भी पढ़ें- आशीष देव चारण को उस्ताद बिस्मिल्ला खां पुरस्कार

उन्होंने बताया कि मंडल पर इस तरह के कार्यक्रमों का समय-समय पर आयोजन किया जाएगा। प्रशिक्षक रचना पुरोहित ने बताया कि तीन दिवसीय शिविर के दौरान रेलवे के ट्रेन मैनेजरों,कंट्रोलरों,लोको पायलटों व सहायक लोको पायलटों को तनाव और खिंचाव के बीच खुश रहकर अपने कार्य को कुशलता पूर्वक करने की कलाएं सिखाई गई। ट्रेन संचालन से जुड़े कर्मचारियों ने शिविर में भस्त्रिका प्राणायाम,कनिष्ठा प्राणायाम, उज्जयी प्राणायाम,ओम का जाप और योग से सुदर्शन क्रिया का गहन अभ्यास किया।

शिविर से जुड़े अनुभव बताते हुए प्रशिक्षणार्थियों ने बताया कि सुदर्शन क्रिया के नियमित रूप से अभ्यास करने पर तनाव डिप्रेशन और थकान कम करने में मदद मिलेगी। प्रारंभ में वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी रघुवीर सिंह चारण ने शिविर के उद्देश्य पर प्रकाश डाला जबकि सहायक कार्मिक अधिकारी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts