जोधपुर, शहर में आज भी लगातार सुबह कोहरे की परत छाई रही। कोहरे के कारण सूरज की तपिश भी कम हो गई। हालांकि दिन चढऩे के साथ कोहरा कम होता गया। ग्रामीण क्षेत्रों में दोपहर तक घना कोहरा छाया रहा। हालांकि न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री बढक़र 12.7 डिग्री तक पहुंचने के कारण सर्दी से कुछ राहत अवश्य मिली लेकिन सर्द हवा अभी भी गलन पैदा कर रही है। मौसम विभाग के अनुसार अरब सागर की तरफ से बढ़ रही नमी से यहां कोहरा छा रहा है। एक-दो दिन में हल्के बादल भी छा सकते है।
मौसम विभाग का कहना है कि पूर्वी राजस्थान की तरफ बने ऊपरी हवाओं के चक्रवात से अरब सागर की तरफ से नमी राजस्थान की तरफ बढ़ रही थी। ज्यादा असर पूर्वी राजस्थान व पश्चिमी मध्यप्रदेश की तरफ होने से उन क्षेत्रों में बारिश व बूंदाबांदी की संभावनाएं थी। यहां कम दबाव के क्षेत्र का असर कम होने से यहां केवल नमी पहुंची, बारिश की संभावनाएं नहीं बनी। इस नमी की वजह से अलसुबह कोहरा छा गया। मौसम विभाग के अनुसार उड़ीसा व छत्तीसगढ़ पर बने प्रतिचक्रवात से हवाएं दक्षिण से होते राजस्थान व मध्यप्रदेश की तरफ बढ़ रही हैं। उत्तरी हवाएं भी राजस्थान की तरफ आ रही हैं। इन दोनों हवाओं का मिलन पूर्वी राजस्थान व पश्चिमी मध्यप्रदेश में हो रहा है। इससे कोटा से ग्वालियर के बीच बादल छाए हुए हैं तथा वहां बारिश व बौछारे गिर रही हैं। पश्चिमी राजस्थान में कन्वर्जन जोन का असर कम होने की वजह से बारिश की संभावना नहीं बन रही। अरब सागर से आने वाली नमी यहां कोहरे व नमी का रूप ले रही है। इधर मौसम विभाग ने 5 जिलों में घने कोहरे और 12 जिलों में हल्की बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। अगले दो दिन 6 जिलों में शीतलहर और 9 जिलों में घने कोहरे का यलो अलर्ट दिया है। यानी दो दिन बाद प्रदेश में सर्दी फिर से बढ़ेगी। प्रदेश में माउंट आबू, फतेहपुर, डबोक, बाड़मेर, जैसलमेर,बीकानेर, चूरू, श्रीगंगानगर, फलोदी का न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम रिकॉर्ड किया गया। माउंट आबू का न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री रहा। बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, जोधपुर में घने कोहरे की संभावना जताई गई है। साथ ही कोटा, बारां, धौलपुर, भरतपुर, करौली, सवाई माधोपुर, झालावाड़, अलवर, दौसा, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर में मेघगर्जन के साथ वज्रपात का यलो अलर्ट जारी किया गया है।