चिरंजीवी योजना से प्रत्येक परिवार को जोड़ने का लक्ष्य करें निर्धारित- सुराणा

चिरंजीवी योजना से प्रत्येक परिवार को जोड़ने का लक्ष्य करें निर्धारित- सुराणा

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित

जोधपुर, जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता के निर्देशानुसार सोमवार को चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा के लिए जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक बैठक कलेक्ट्रट सभागार में आयोजित हुई।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अभिषेक सुराणा की अध्यक्षता में आयोजित समीक्षा बैठक में जिले भर में चल रही चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की जनकल्याणकारी योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए कम प्रगति वाले चिकित्सा संस्थानों को आवश्यक सुधार करने के लिए निर्देशित किया गया।

सुराणा ने बैठक में उपस्थित कार्मिकों को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर आयोजित हुई ग्राम पंचायत सभाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए चिरंजीवी योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार,पॉलिसी नवीनीकरण एवं वंचित रहे परिवारों को चिरंजीवी योजना से जोड़ने के बारे में की गई गतिविधियों की समीक्षा की।

निशुल्क दवा एवं जांच योजना का लाभ जन-जन तक पहुंचे

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने सभी सम्बंधित को निर्देशित किया कि सरकारी अस्पतालों की आईपीडी में भर्ती होने वाले मरीजों के अनुपात में चिरंजीवी योजना के तहत पैकेज टीआईडी जनरेट कर उन्हें इस योजना से लाभान्वित किया जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुसार सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी व आईपीडी पर्ची निःशुल्क करते हुए अस्पताल में आने वाले सभी मरीजों को मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा एवं जांच योजना का लाभ पहुँचाने के लिए सभी सम्बंधित को इसकी अनुपालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए।

चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से जुड़ने के लिए आमजन को करें प्रेरित

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बलवंत मंडा ने कार्मिको को बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में संचालित हो रही देश की सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य बीमा योजना, “मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना“ का लाभ प्रत्येक परिवार तक पहुंचाने के लिए अब तक योजना से वंचित रहे परिवारों को जोड़ने के लिए जिला स्तर से उपलब्ध करवाई ड्यू लिस्ट के अनुसार उनसे संपर्क करके पॉलिसी से जुड़ने के लिए प्रेरित करें।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा एवं जांच योजना का लाभ प्रत्येक मरीज तक पहुंचाते हुए उनकी ऑनलाइन लिस्टिंग करना सुनिश्चित करें, जिन संस्थानों की लाइन लिस्टिंग में कमी पाई गई। उन्हे जल्द आवश्यक सुधार करने के लिए निर्देशित किया।

योजनाओं की प्रगति की समीक्षा के साथ दिए उचित दिशा निर्देश

सीएमएचओ ने सभी सम्बंधित को पोर्टल पर पंजीकृत सिलिकोसिस मरीजों के पेंडिंग केसेज को खत्म करते हुए उनकी आवश्यकता अनुसार स्वास्थ्य जांच कर उनका नियमानुसार निस्तारण करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त मातृ-शिशु स्वास्थ्य, निरोगी राजस्थान, स्वास्थ्य मित्र,जननी सुरक्षा योजना,राजश्री योजना,टीबी,नियमित टीकाकरण, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस,सुमन कार्यक्रम,परिवार कल्याण, पीसीपीएनडीटी, एनसीडी, आयुष्मान भारत व निरोगी राजस्थान ब्लॉक हेल्थ मेला आदि की प्रगति की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा- निर्देश दिए।

इस अवसर पर जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कौशल दवे, अतिरिक्त सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ. रामनिवास सेंवर,डिप्टी सीएमएचओ (स्वास्थ्य) डॉ. प्रीतम सिंह सांखला, प्रभारी अधिकारी जिला औषधि भंडार गृह डॉ. राकेश पासी, डीपीएम अमनदीप चौधरी, चिरंजीवी डीपीसी डॉअल्का राजपुरोहित,जिला नोडल अधिकारी मुकेश सोलंकी, जिला आशा समन्वयक महावीर सिंह, जिला आईईसी समन्वयक मोहन मेहरिया सहित समस्त बीसीएमओ, जोनल प्रभारी, जिला अस्पताल प्रतिनिधि व बीपीएम उपस्थित थे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews