Resident doctors worked by tying black band

जोधपुर, डॉ एसएन मेडिकल कॉलेज सहित प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेज में रेजिडेंट्स डॉक्टर्स ने अपनी लंबित मांगों को लेकर काली पट्टी बांधकर काम किया। वह दो दिनों तक काली पट्टी बांधकर काम करेंगे। इसके बाद भी उनकी मांगें पूरी नहीं होने पर 14 से 16 मई तक रोज सुबह 1 घंटे का कार्य बहिष्कार किया जाएगा। फिर भी मांगें नहीं मानने पर कठोर कदम उठाने की चेतावनी दी है।

रेजिडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र ने बताया कि मांगों को लिखित और मौखिक तौर पर कई बार डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को बताया गया और राज्य सरकार को भी अवगत करवाया है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई। उनकी प्रमुख मांग पीजी बैच 2018 की परीक्षा तय समय पर मई के आखिरी सप्ताह में पूर्ण करवाने या वन टाइम रिलेक्सेशन देते हुए सभी को प्रमोट करने की है, ताकि रेजिडेंट्स को मानसिक और वित्तीय नुकसान ना हो।

फ्रेशर व इन सर्विस रेजिडेंट की 3 साल के बाद रेजिडेंट अवधि को वन टाइम एग्जाम मानकर एकेडमिक सीनियर रेजिडेंसी में काउंट करने का आदेश जारी किया जाए तथा आगामी यूपीएससी, आरपीएससी असिस्टेंट प्रोफेसर एग्जाम की योग्यता में इस अवधि को गिना जाए और वेतन वृद्धि करने की जाए।

ये भी पढ़े – बुधवार को 9 प्रतिष्ठान सीज

रेजिडेंट्स के परिवार जनों को प्राथमिकता के साथ वैक्सीन लगवाई जाए। डॉ. राजेंद्र ने कहा कि सरकार द्वारा मांगें नहीं मानी जाती है तो सभी रेजिडेंट्स 13 मई को भी काली पट्टी बांधकर कार्य कर विरोध जताएंगे। इसके बाद 14 मई से 16 मई तक सुबह 8 से 9 बजे तक कार्य बहिष्कार करेंगे।