release-of-the-book-published-in-the-memory-of-prof-bhansali

प्रो.भंसाली की पुण्य स्मृति में प्रकाशित पुस्तक का विमोचन

1 लाख रुपए का अवार्ड प्रतिवर्ष देने की घोषणा

जोधपुर,विधि क्षेत्र के वरिष्ठ आचार्य स्वर्गीय प्रोफेसर डॉ सावत राज भंसाली की तीसरी पुण्यतिथि पर रविवार को भंसाली भवन में उनके सम्मान में प्रकाशित पुस्तक का विमोचन मुख्य अतिथि झारखंड के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस पीसी टाटिया ने किया। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में राजस्थान हाईकोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस संदीप मेहता भी उपस्थित थे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति गुलाब सिंह चौहान ने की। पुस्तक में स्वर्गीय प्रोफेसर डॉ सॉवत राज भंसाली से जुड़े तमाम उन लोगों ने अपने संदेश दिए जो उनसे किसी न किसी रूप में हमेशा जुड़े रहे। इस पुस्तक में जिनके संदेश है उनमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेकर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी शामिल हैं। उनके अलावा सुप्रीम कोर्ट के जज से लेकर कई बड़ी-बड़ी हस्तियों ने इस पुस्तक में अपने संदेश लिखे हैं।

ये भी पढ़ें- जंबूरी के लिए उत्तराखंड से आया बच्चा शहर में लापता,पुलिस ने दो घंटे में ढूंढा

पुस्तक का संपादन प्रोफेसर डॉ एमके भंडारी ने किया जो प्रोफेसर डॉक्टर सावत राज भंसाली के शिष्य रहे हैं, उनका कहना है कि मैं अपने गुरुजी के लिए क्या कर सकता था यह विचार उनके मन को हमेशा कचोटता था और फिर उन्होंने इस पुस्तक का संपादन करने का फैसला किया। द फ़्रेस्टशिफ्ट नाम की पुस्तक को इस रूप में लाने के लिए प्रोफेसर डॉ एमके भंडारी के साथ भंसाली परिवार ने भी सहयोग दिया। कार्यक्रम में जस्टिस संदीप मेहता,जस्टिस टाटिया, प्रोफेसर डॉ एमके भंडारी और कई गणमान्य लोगों ने अपने जीवन में प्रोफेसर डॉ सावत राज भंसाली के अमूल्य योगदान के बारे में अपने विचार रखे।

release-of-the-book-published-in-the-memory-of-prof-bhansali

कार्यक्रम में भाग लेने के लिए विधि शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे नूर मोहम्मद भी कश्मीर से जोधपुर आए। प्रोफेसर भंसाली के सानिध्य में पीएचडी कर चुकी रेनू भंडारी इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए जापान से जोधपुर आई। कार्यक्रम के अंत में भंसाली परिवार के डॉक्टर अनिल भंसाली ने नई घोषणा की।अब हर वर्ष प्रोफेसर सावत राज भंसाली अवार्ड विधि के क्षेत्र में बेहतर काम कर रहे लोगों को दिया जाएगा। जिसकी चयन कमिटी की अध्यक्षता प्रोफेसर एमके भंडारी करेंगे। इस अवार्ड की धनराशि 1 लाख रुपए होगी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews