Rajasthan intruders demanded increase in honorarium

जोधपुर, डॉ.एसएन मेडिकल कॉलेज में अध्ययनरत इंटर्न डॉक्टर्स ने जिला कलेक्टर और प्रिंसिपल को मुख्यमंत्री के नाम स्टाईपेन्ड भत्ता की मांग को लेकर ज्ञापन दिया।
छात्रसंघ अध्यक्ष डॉ. विनोद शर्मा ने बताया कि पिछले साल अक्टूबर में सरकार ने मानदेय बढ़ाने का वादा किया था लेकिन सरकार इतना समय बीत जाने के बाद भी अपना वादा पूरा नहीं कर रही है।

सरकार हमारी मांगे जल्द पूरा नहीं करती है तो मजबूरन हमे कार्य बहिष्कार करना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि इंटर्न डॉक्टर को सरकार केवल 7 हजार रुपए मासिक मानदेय दे रही है जो कि किसी दिहाड़ी मजदूररी से भी कम है जबकि राजस्थान से बाहर कई राज्यों में मानदेय 18 से 23 हजार रुपए तक दिया जाता है। कोरोनाकाल में ड्यूटी कर रहे डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ को पीपीई किट मास्क आदि सुविधाएं भी दी जाए।

इसके साथ ही कोविड में ड्यूटी का एक हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से इंसेटिव दिया जाए। इन मांगों पर अगर सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो उन्हें मजबूरन आंदोलन की राह पकडऩी पड़ेगी। यदि कोरोना काल में इंटर्न डॉक्टर हड़ताल पर चले गए तो कोरोना महामारी के बीच मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस कारण आमजन को होती परेशानी की समस्त जिम्मेदारी सरकार की होगी।

ये भी पढ़े :- निंबली टोल नाका के पास में मिला अज्ञात शव,कोरोना के डर से किसी ने शव को नहीं लगाया हाथ