अंग्रेजी ने हिंदी के प्रति पैदा की हीनभावना-राज्यपाल

अंग्रेजी ने हिंदी के प्रति पैदा की हीनभावना-राज्यपाल

क्षेत्रीय राजभाषा के लिए सम्मान समारोह

जोधपुर,अंग्रेजी ने हिंदी के प्रति पैदा की हीनभावना-राज्यपाल। करवड़ स्थित आईआईटी जोधपुर परिसर में भारत सरकार के गृह मंत्रालय राज भाषा विभाग की और से आज उत्तर क्षेत्रीय संयुक्त राजभाषा सम्मेलन हुआ। इसमें देश के दस राज्यों से कर्मचारी पहुंचे जिनका बेहतरीन प्रदर्शन के लिए सम्मान किया गया।कार्यक्रम में राज्यपाल कलराज मिश्र ने राजभाषा कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा अंग्रेजी ने हमारे मन में हिंदी के प्रति हीन भावना पैदा की है। इसलिए राजभाषा कर्मचारी हिंदी के प्रति हीन भावना समाप्त करने के लिए काम करें। राज्यपाल ने कहा हिंदी हमारी राजभाषा है,लेकिन संविधान में 15 साल तक हिंदी की सहयोगी भाषा के तौर पर अंग्रेजी को रखा गया। कवि रामधारी सिंह दिनकर ने इसको लेकर राज्यसभा में कहा था कि कहीं ऐसा नहीं हो की ये भाषा अनंत काल तक रह जाए। उस समय रहे गृहमंत्री ने कहा था ऐसा नहीं होगा, लेकिन उनकी यह बात सही साबित हुई।आज भी अंग्रेजी भाषा का वर्चस्व बना हुआ है। इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि हिंदी को व्यवहारिक रूप में स्थान दें। जिस विभाग में हम हैं उस विभाग में किसी भी प्रकार की हीनता का अनुभव नहीं करते हुए हिंदी भाषा का सदैव प्रयोग करें। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत हिंदी को प्राथमिकता दी गई। भाषा के नजरिए से हिंदी समृद्ध भाषा है। हिंदी के चहुंमुखी विकास के लिए राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी और क्षेत्रीय स्तर पर स्थानीय भाषा को महत्व दिया जाए।

यह भी पढ़ें – राज्यपाल मिश्र एक दिवसीय यात्रा पर जोधपुर पहुंचे

उन्होंने कहा कि भाषा कोई भी बुरी नहीं होती बशर्ते कि वो दूसरी भाषा पर राज करने या साम्राज्य जताने के लिए नहीं लाई जाती हो। राज्यपाल ने कहा भारत में अंग्रेजी भाषा ऐसी ही रही है। जिसने साम्राज्यवाद के बतौर लोगों में गहरी पैठ बनाई है। हिंदी आज भी बहुसंख्यक लोगों द्वारा बोली जाती है,लेकिन अंग्रेजी ने हमारी अपनी भाषा के प्रति हीन भाव पैदा किया है। राजभाषा अधिकारियों को उन्होंने हिंदी के सांस्कृतिक राजदूत कहते हुए उनसे हिंदी के प्रति हीन भावना समाप्त करने के लिए काम करने का आह्वान किया। राज्यपाल ने कहा कि हिंदी को में भाषा नहीं बल्कि भारतीय संस्कृति और भारतीयता का गौरव मानता हूं। हिंदी भाषा ने ही संकृति की जड़ों से सदा जोड़े रखा है। हमारे यहां हर कोस पर पानी और हर 4 कोष में भाषा बदल जाती है, लेकिन इस बदली भाषा में हिंदी की जड़ें समाई हुई हैं। इस अवसर पर उत्तर-1एवं उत्तर-2 क्षेत्र में केंद्र सरकार के कार्यालयों, बैंकों एवं उपक्रमों को विभिन्न श्रेणियों के अंतर्गत राजभाषा में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए पुरस्कार प्रदान किए गए।

यह भी पढ़ें – फार्म हाउस से लौट रहे दो युवकों पर कातिलाना हमला

गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया 
इससे पहले राज्यपाल कलराज मिश्र आज सुबह एक दिवसीय यात्रा पर जोधपुर पहुंचे। इस दौरान संभागीय आयुक्त बीएल मेहरा,पुलिस आयुक्त रवि दत्त गौड़,डीसीपी (पूर्व) डॉ. अमृता दुहन,ग्रामीण विशेषाधिकारी हरजीलाल अटल, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रथम) जयनारायण मीणा, एसडीएम ग्रामीण ओपी मेहरा ने राज्यपाल की एयरपोर्ट पर अगवानी की। एयरपोर्ट पर ही राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts