cultural-ground-gets-strengthened-by-organizing-festivals-kalla

उत्सव आयोजन से सांस्कृतिक धरा मजबूत होती है-कल्ला

  • निर्यात के लिए डिजाईन और प्रलेखन का महत्व विषयक संगोष्ठी आयोजित
  • शिल्पियों को उत्कृष्ट बाजार मिलता है

जोधपुर,पश्चिमी राजस्थान उद्योग उत्सव-2023 के तहत सोमवार को संगोष्ठी कक्ष में शिक्षा मंत्री डाॅ. बीडी कल्ला के मुख्य आतिथ्य में हस्तशिल्प निर्यात के लिए डिजाईन एवं प्रलेखन का महत्व विषय पर संगोष्ठी आयोजित की गई। निर्यात के लिए डिजाइन और प्रल्लेख का महत्व विषयक संगोष्ठी में वक्ताओं ने महत्वपूर्ण प्रकाश डाला। मुख्य अतिथि राजस्थान के शिक्षा एवं संस्कृति मंत्री डाॅ.बीडी कल्ला ने अपनी रूस यात्रा के संस्मरण के साथ बात शुरू की। अपने देश की परम्पराओं,संस्कृति के वहां दृश्य देखकर बहुत खुशी हुई।

उन्होंने बताया कि वहां एक्सपोर्ट केवल दूसरे देशों के लिए मेहनत से तैयारी देखकर मैं अभिभूत हो गया। डिजाइन के साथ रंग,मैचिंग एवं फैशन का ध्यान रखना जरूरी है। कल्ला ने बताया कि हमारी खादी में जो आधुनिक व नए प्रयोग के कारण पूरे विश्व में एक नया आकर्षण बनता जा रहा है। उन्होंने प्रल्लेखन के महत्व को समझने की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने राजस्थान में शिक्षा की अभूतपूर्व प्रगति पर भी प्रकाश डाला।

ये भी पढ़ें- सोलर प्लांट के नाम पर 1.47 लाख की ठगी

cultural-ground-gets-strengthened-by-organizing-festivals-kalla

शिक्षा विभाग द्वारा बनाए गए विश्व रिकाॅर्ड पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने विशेष रूप से स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग पर बल देते हुए अधिकाधिक उपयोग का आह्वान किया। इससे पूर्व डाॅ.बीडी कल्ला ने पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव स्थल पर बनाये गये सी-वर्ल्ड, केन्द्रीय पण्डाल,भगवान शिव की प्रतिमा सहित उत्सव स्थल पर सुसज्जित स्टाॅल्स का अवलोकन कर उत्सव के भव्य एवं सफलतम आयोजन हेतु आयोजकों का आभार जताया।

उन्होंने उत्सव के दौरान हस्तशिल्पियों, दस्तकारों,उद्यमियों, निर्यातकों को प्रोत्साहित करने एवं उन्हें राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं/प्रशिक्षण कार्यक्रमों के बारे में जानकारी उपलब्ध करवाने हेतु प्रतिदिन आयोजित की जाने वाली संगोष्ठियों/कार्यशालों के आयोजन पर भी आभार जताते हुए कहा कि इससे हस्तशिल्पियों, दस्तकारों,उद्यमियों एवं निर्यातकों को प्रोत्साहन मिलेगा।
उन्होंने पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव की सफलता की कामना की।

संयोजक व रीको के स्वतंत्र निदेशक सुनील परिहार ने कहा कि पिछले 33 वर्षों से यह उत्सव अपने उत्कर्ष पर पहुंच गया है। इसके माध्यम से उद्योगों के विकास,नए व आधुनिक अपडेट, नवाचार, स्टाॅल वालों के भी नवाचार, जोधपुर का पुराना हाट बाजार की तर्ज पर थार के रेगिस्थान में समुद्र का अहसास कराने के लिए सी-वर्ल्ड, महादेव का प्रभामंडल,हर दिन सेमिनार से समस्याओं की अभिव्यक्ति आदि पर जानकारियां उपलब्ध करवाई जा रही हैं।

ये भी पढ़ें- बीकानेर से जोधपुर के रास्ते द्वारका सीधी ट्रेन का पहला फेरा आज

जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र जोधपुर के महाप्रबंधक एवं उत्सव आयोजन सचिव एसएल पालीवाल ने राज्य सरकार द्वारा निर्यातकों हेतु संचालित विभिन्न योजनाओं एवं निर्यात पर विभिन्न मदों में दिये जा रहे अनुदान पर प्रतिभागियों को संक्षिप्त में जानकारी दी।

संगोष्ठी में जोधपुर हैण्डीक्राफ्ट एक्सपोर्ट फैडरेशन के अध्यक्ष नरेश बोथरा एवं जोधपुर हैण्डीक्राफ्ट एक्सपोर्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष भरत दिनेश ने विशिष्ठ अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए जोधपुर के निर्यात उद्योग की बारीकियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी और यहां के निर्यात प्रोत्साहन एवं सवंर्द्धन हेतु उठाये जाने वाले आवश्यक कदमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

कार्यालय विकास आयुक्त (हस्तशिल्प),जोधपुर के सहायक निदेशक किरण वीएन एवं आर्टिजंस वेलफेयर प्रोडयूसर कंपनी लि.के निदेशक राजन भण्डारी ने प्रमुख वक्ता के रूप में संबोधित करते हुए हस्तशिल्प निर्यात में डिजाईन की महत्ती भूमिका पर प्रकाश डाला।

संगोष्ठी में टूलकिट वितरण किया गया। आरंभ में कार्यक्रम समन्वयक उपेंद्र भंसाली ने स्वागत किया। पिछले 3 दशकों से इस उत्सव में एमआईए ने बहुआयामी कार्यक्रमों से आमजन में एक अमिट छाप छोड़ी है। अंत में एमआईए के सचिव एवं उत्सव के समन्वय सचिव निलेश संचेती ने सभी का आभार जताया।

कार्यक्रम में एमआईए के पूर्व अध्यक्ष कमल मेहता,एसके शर्मा,कमल सिंघवी, उमेश लीला,उपाध्यक्ष मुकेश खत्री, सहसचिव गोविंद अग्रवाल एवं गुमाना राम जांगिड़,कोषाध्यक्ष पंकज राठी, नरेन्द्र शर्मा,केके लूंकड़,गणेश चौधरी, धनराज गुणपाल सहित अनेक उद्यमी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें- 18वीं राष्ट्रीय जम्बूरी में रेलवे की भागीदारी

राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम एवं जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र द्वारा साॅफ्टवेयर डवलपमेंट पर कार्यशाला आयोजित

राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम एवं जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र के संयुक्त तत्वाधान में उत्सव स्थल पर प्रतिदिन चल रहे कार्यक्रमों की कड़ी में आज साॅफ्टवेयर डवलपमेंट पर कार्यशाला आयोजित की गई जिसमें विषय विशेषज्ञ वक्ताओं द्वारा प्रतिभागियों को वर्तमान समय के डिजिटल युग में साॅफ्टवेयर का महत्व एवं इसके डवलपमेंट पर विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम की समन्वयक जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र,जोधपुर की सहायक निदेशक एवं उत्सव की अतिरिक्त आयोजन सचिव पूजा मेहरा सुराणा थी।

ब्लू सिटी दिवा ब्यूटी काॅन्टेस्ट

आज उत्सव स्थल पर ब्लू सिटी दिवा ब्यूटी काॅन्टेस्ट का आयोजन बाय सा हुकुम के तत्वावधान में किया गया।

मिशन निर्यातक बनो, पर जागरूकता कार्यशाला

आज उत्सव स्थल पर निर्यात को प्रोत्साहित करने एवं उद्यमियों को निर्यात के प्रति जागरूक करने के लिए मिशन निर्यातक बनो पर जागरूकता कार्यशाला का आयोजन जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र, जोधपुर द्वारा किया गया। जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक एसएल पालीवाल ने प्रतिभागियों को देश के बाहर निर्यात किये जाने वाले उत्पादों हेतु निर्धारित कागजी प्रक्रियाओं, रजिस्ट्रेशन एवं निर्यात के लिए आवश्यक शर्तों के बारे में विस्तार से जानकारी देकर प्रतिभागियों को अधिक से अधिक संख्या में निर्यात व्यवसाय से जुड़ने हेतु प्रेरित किया।

इसीजीसी के शाखा प्रबंधक मुरलीधर महतो,अमेजन की अरूधंति मुखर्जी एवं वीएलसी कंसलटेंसी के नरेन्द्र शेखावत द्वारा भी निर्यात प्रक्रिया में उनके संस्थानों द्वारा प्रदत्त सहायता सुविधाओं की जानकारी प्रदान की गई। सफल निर्यातक गुमानाराम जांगिड़ द्वारा अपने अनुभव साझा किये गये।

गणेश पूजन

सांय उत्सव स्थल पर आयोजित गणेश पूजन के अवसर पर जोधपुर सीजीएटी के आयुक्त राजीव अग्रवाल, बैंक आॅफ बड़ौदा के सहायक महाप्रबंधक सुरेशकुमार बंटोलिया, वरिष्ठ उद्यमी कैलाश टाटिया,शांतिमल मेहता,किशनलाल गर्ग,जोधपुर इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष एनके जैन एवं सहसचिव अनुराग लोहिया सहित उत्सव आयोजन समिति के पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित थे।

सांस्कृतिक कार्यक्रम

उत्सव स्थल पर स्थित संगोष्ठी कक्ष में आज सायं सांस्कृतिक कार्यक्रमों की कड़ी में राजस्थानी नृत्य एवं गायन पर राजस्थानी लोक कलाकार त्रिलोकसिंह नगसा एण्ड पार्टी द्वारा राजस्थान का सुप्रसिद्ध लोग गीत धरती धोरा री..सहित अनेक राजस्थानी लोग गीतों पर गायन एवं नृत्य की भव्य प्रस्तुतियां दी गई जिसका मेला स्थल पर आये हुए दर्शकों एवं मैलार्थियों ने जमकर लुत्फ उठाया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews