पत्नी व दो बच्चों के शव मिले राजीव गांधी नहर में

पत्नी व दो बच्चों के शव मिले राजीव गांधी नहर में

  • घरवालों को कहा पत्नी बच्चों को पीहर के लिए ट्रेन में बिठाकर आता हूं..
  • खुद ने रेल के आगे कूदकर दी जान
  • शवों को देर रात भेजा जोधपुर
  • नहर पार कर बाइक लेकर पहुंचा रेलवे ट्रेक पर

जोधपुर,पत्नी व दो बच्चों के शव मिले राजीव गांधी नहर में। तिंवरी कस्बे में रहने वाले एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बच्चों को ट्रेन में बिठाकर आने की बात कहकर घर से निकला था। मगर वह वापिस घर नहीं पहुंचा। दोपहर में उसका रेल से कटा शव तिंवरी-मथानिया रेलवे ट्रेक पर मिला। मगर उसकी पत्नी बच्चे नजर नहीं आए। इस पर उसकी पत्नी के पीहर बाड़मेर बात की गई तो पता लगा कि वह यहां नहीं पहुंची है। इस पर पत्नी और बच्चों का सर्च किया गया। मंगलवार की रात को महिला और उसके दो बच्चों के शव राजीव गांधी नहर की जाली में फंसे मिल गए।

यह भी पढ़ें – आज भी आयकर सर्वे और सर्च ऑपरेशन जारी

पुलिस ने पति के शव को मथानिया सीएचसी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है,जबकि उसकी पत्नी और दो बच्चों के शव जोधपुर के अस्पताल में भेजे हैं। पत्नी बच्चों की हत्या के बाद खुद सुुसाइड किया या कोई और कारण इसमें रहा इस बारे में पुलिस जांच में जुटी है। महिला के पीहर पक्ष के आने के बाद ही अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। एसीपी मंडोर पीयूष कविया ने बताया कि तिंवरी निवासी 32 साल का कंवरलाल आचार्य पेशे से कमठा मजदूर था। वह यहां तिंवरी में अपनी पत्नी और दो बच्चों सहित परिवार के अन्य सदस्यों के साथ रहता था। मंगलवार की सुबह वह घरवालों को यह कहकर निकला कि अपनी पत्नी पूनम और दो बच्चों छह साल के भरत,3 साल के सौरभ को पीहर छोडऩे के लिए ट्रेन में बिठाकर आ रहा है। मगर वह वापिस घर नहीं लौटा था। दोपहर में पुलिस को सूचना मिली तिंवरी-मथानिया के बीच में रेलवे ट्रेक पर एक युवक ने रेल से कटकर अपनी जान दी है। इस पर थानाधिकारी राजेंद्र सिंह चारण आदि वहां पहुंचे। तब उसकी पहचान कंवरलाल आचार्य के रूप में हुई। पता लगा कि वह पत्नी और दो बच्चों को साथ लेकर निकला था। इस पर फिर बाड़मेर में उसकी पत्नी पूनम के पीहर वालों से बात हुई तो मालूम हुआ कि वह यहां नहीं पहुंची है। इस पर पुलिस और ग्रामीणों ने उनकी तलाश आरंभ की।

एसीपी कविया ने बताया कि ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने राजीव गांधी नहर में उसके एक बच्चे का शव बरामद किया। फिर आशंका बनी कि पत्नी और दूसरा बच्चा भी नहर में ही हो सकता है। इस पर पुलिस और ग्रामीणों का सर्च जारी रहा। रात को दस बजे के आसपास पूनम और दूसरे बच्चेे का शव भी बरामद हो गया। इनका शव राजीव गांधी नहर की इंद्रोका जाली में फंसा दिखाई दिया।

यह भी पढ़ें – स्कूल से घर लौट रही बालिका से ऑटो चालक ने की छेड़छाड़

पुलिस कर रही जांच
मथानिया थानाधिकारी राजेंद्र सिंह चारण ने बताया कि कंवरलाल ने अपनी पत्नी और बच्चों की हत्या के बाद सुसाइड किया या मामला कुछ और है,इस बारे में पहले कुछ नहीं कहा जा सकता है। यह भी हो सकता है कि यह लोग नहर पार कर निकलने की कोशिश में हों।

नहर से निकल कर बाइक लेकर रेलवे ट्रेक पर पहुंचा
थानाधिकारी चारण ने बताया कि मृतक कंवरलाल नहर में गिरने के बाद काफी दूरी तक पानी में बहते हुए बाहर निकला। फिर बाइक लेकर तिंवरी-मथानिया के बीच रेलवे ट्रेक तक आया और रेल के आगे कूद कर सुसाइड कर लिया। उसके पास में हालांकि कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

यह भी पढ़ें – उम्मेद अस्पताल में देर रात बच्ची की मौत

दस साल पहले हुई थी शादी
कंवरलाल आचार्य की शादी बाड़मेर की पूनम के साथ दस साल पहले हुई थी। उसके दो पुत्र छह साल का भरत और 3-4 साल का सौरभ था। यहां परिवार सहित रहकर कमठा मजदूरी करता था। इस घटना के बाद गांव में गमगीन माहौल बन गया। शवों की अग्रिम कार्रवाई बुधवार को की जाएगी।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts