Accused of cheating arrested

जोधपुर, टैक्सटाइल उद्यमी को विश्वास में लेने के बाद डेढ़ करोड़ रुपए की चपत लगाने वाले एक व्यक्ति को बासनी पुलिस ने अहमदाबाद से गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी सहित दो अन्य की तलाश के प्रयास किए जा रहे हैं। बासनी थानाधिकारी पाना चौधरी ने बताया कि बासनी द्वितीय फेस में टैक्सटाइल उद्यमी अमित गौड़ से कुछ माह पूर्व गुप्ता नीरज कुमार नामक व्यक्ति मिला था। उसने खुद को अहमदाबाद में गुप्ता टैक्सटाइल्स का मालिक बताया और अमित की टैक्सटाइल से कपड़ा खरीदकर अहमदाबाद, मुम्बई व बेंगलुरु में बेचने के बारे में बात की। कुछ पहले तक वह माल का तुरंत भुगतान करता रहा।

गत अप्रेल में उसने कोरोना संक्रमण की वजह से भुगतान न आने का बहाना बनाया और 40-45 दिन में भुगतान करने का विश्वास दिलाकर माल की सप्लाई चालू रखने का आग्रह किया। विश्वास में आकर टैक्सटाइल उद्यमी अमित ने उधार माल दे दिया। करीब डेढ़ करोड़ रुपए का माल खरीदने के बाद वह अपनी फर्म बंद कर गायब हो गया। इसका पता लगा तो व्यवसायी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

ये भी पढ़े :- रेमडेसिवीर इंजेक्शन बेचते निजी अस्पताल का नर्सिंगकर्मी पुलिस गिरफ्त में, दो दिन के रिमांड पर

जांच में सामने आया कि अहमदाबाद में गुप्ता टैक्सटाइल नामक फर्म नहीं है। ना ही गुप्ता नीरज कुमार नामक व्यक्ति है। अमित गौड़ की टैक्सटाइज से कपड़ा खरीदकर उसने कोहिनूर टैक्सटाइल नाम से ट्रैवल्स एजेंसी से कपड़ा अहमदाबाद भेजा था। जो एजेंसी के ऑफिस में ही रखा था। इसका पता लगने पर पुलिस को अहमदाबाद भेजा गया, जहां कपड़े की गांठे लेने आए अहमदाबाद निवासी सुनील मानवानी  को हिरासत में लिया गया। उसे जोधपुर लाकर पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। पुलिस का कहना है कि धोखाधड़ी का मुख्य आरोपी एक अन्य व्यक्ति है। जो फर्जी पहचान पत्र से गुप्ता नीरज कुमार बना हुआ था। उसकी व एक अन्य की तलाश की जा रही है।