पत्थर की खान के पानी में डूबने से चार बच्चों की दर्दनाक मौत, मुख्यमंत्री ने जताया दुःख

पत्थर की खान के पानी में डूबने से चार बच्चों की दर्दनाक मौत, मुख्यमंत्री ने जताया दुःख

  • परिवार के लोग मोहल्ले चल रही शादी समारोह में थे व्यस्त
  • सोमवार की दोपहर में निकले थे बच्चे

जोधपुर, शहर के निकटवर्ती कालीबेरी स्थित पत्थर की खान में भरे पानी में डूबने से चार बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की मदद से चारों बच्चों के शव को बाहर निकलवाया। दोपहर में शवों का पोस्टमार्टम करवाया गया। चारों बच्चे सोमवार की दोपहर से घर से निकले हुए थे। परिवार के लोग मोहल्ले में चल रही शादी समारोह में व्यस्त थे। पुलिस ने घटना में मर्ग की कार्रवाई की है।

इधर दोपहर में जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता भी एमजीएच मोर्चरी पर पहुंचे और मृतक बच्चों के परिजन से बात की। उन्हें हृदयविदारक हादसे के लिए ढांढस बंधाया। इस घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुःख व्यक्त कर परिवार को संबंल प्रदान किया है। सूरसागर थानाधिकारी गौतम डोटासरा ने बताया कि मंगलवार की सुबह आठ नौ बजे के बीच सूचना मिली कि काली बेरी की पत्थर की खान में भरे पानी के बाहर कुछ बच्चोंं के जूते कपड़े पड़े हैं। बच्चों की डूबने की आशंका के बीच गोताखोरों को बुलाया गया। एक बच्चे का शव पानी में पहले दिखाई दे गया था। इस बीच बच्चों के परिवार के लोग भी जमा हो गए। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से एक-एक कर चार बच्चों के शवों को बाहर निकलवाया। बाद में शवों को कार्रवाई के लिए एमजीएच के मुर्दाघर भिजवाया गया। पुलिस की तरफ से मर्ग की कार्रवाई की है। इधर इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की और दुःख जताया है।

सोमवार की दोपहर में निकले थे बच्चे

थानाधिकारी डोटासरा ने बताया कि बच्चे सोमवार की दोपहर से निकले हुए थे। परिवार के लोग मोहल्ले में चल रही एक शादी समारोह मेें व्यस्त थे। इस बीच वे कब घर से निकले उन्हेें पता नहीं चला। आज सुबह एक शव पानी में नजर आने पर अन्य की तलाश की गई। इनकी पहचान पूनमचंद, युवराज पुत्रान रमेश भील एवं टीकम-गोपाल पुत्रान गोविंद भील के रूप में की गई है। घटना की जानकारी पर एडीएम सिटी तृतीय भी मौके पर पहुंचे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews