हत्यारे ने जलाने के पहले संतुष्टि के लिए पत्थरों से किए थे सिर पर कई वार

हत्यारे ने जलाने के पहले संतुष्टि के लिए पत्थरों से किए थे सिर पर कई वार

जोधपुर, शहर के आशापूर्णा सिटी में गत 20 अप्रैल को हुए ज्वैलर अपहरण एवं हत्याकांड में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नया खुलासा हुआ है। उसका अपहरण करने के बाद आरोपी ने सांडेराव टोल नाका पहुंचने के पहले ही डॉक्टर की कैंची से गले व सीने में कई वार किए थे। टोल नाके से निकलने के बाद उसकी मौत हो गई थी। करीब डेढ़ बजे आरोपी उदयपुर के पास कुंभलगढ़ के जंगलों में पहुंचा, वहां आरोपी ने युवक को जलाने के पहले सिर पर पत्थर से कई वार किए आरोपी को लग रहा था कि युवक अभी जिंदा है,उसे पूरी तरह मौत के घाट उतारने के लिए उसनेआत्मसंतुष्टि के लिए सिर कुचला था।

पुलिस ने बताया कि भंवरलाल सोनी निवासी पाल के 23 वर्षीय बेटे अनिल सोनी का उसके दोस्त राजू माली ने 20 अप्रैल को कार सहित अपहरण कर लिया था। रास्ते में उसने मौत के घाट उतारा और फिर उसे कुंभलगढ़ के जंगल में जला दिया। अनिल का शव अधजली हालत में मिला था। आशंका जताई गई थी कि युवक को जिंदा जलाया गया है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया है कि युवक को जलाने के पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। युवक की मौत के बाद पत्थर से सिर पर कई वार किए और फिर उसके शरीर पर पेट्रोल डालकर शव जला दिया। इसके बाद आरोपी वहां से कार लेकर अहमदाबाद गया। वहीं पर उसने कार छोड़ी और वापस अपने घर आया।

यहां पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने आरोपी को पांच दिन की रिमांड पर लिया था, रिमांड खत्म होने के बाद फिर से पुलिस को 3 मई तक की रिमांड मिली है।

कुछ जेवर ही हुए बरामद

पुलिस ने बताया कि राजू माली ने अनिल का अपहरण, लूट, हत्या और शव को जलाने के बाद वापस घर आते समय जेवरों की पोटलियां बनाकर रास्ते में फेंक दी थीं। पुलिस जेवर और हत्या सुराग इकट्ठे करने आरोपी को अहमदाबाद तक लेकर गई थी। पुलिस ने इस बीच सारे सबूत भी जब्त किए, लेकिन फेंके गए कुछ जेवर ही अभी बरामद कर पाई। रास्ते में फेंके गए जेवर राहगीरों को मिले होंगे। इनका पुलिस पता लगा रही है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews