निजी बस ऑपरेटर प्रतिस्पर्धा में लगे, रोडवेज परिचालक ने चलाई मुहिम

निजी बस ऑपरेटर प्रतिस्पर्धा में लगे, रोडवेज परिचालक ने चलाई मुहिम

रोडवेज संचालन बना प्रतिष्ठा का सवाल

जोधपुर, शहर से संचालित एक रोडवेज बस अब प्रतिष्ठा का सवाल बन गई है। इस बस सेवा के शुरू होने के बाद निजी बस ऑपरेटरों में तो खलबली मची ही है,साथ वे प्रतिस्पर्धा का रूख अख्तियार करने के साथ रोडवेज को पूरी तरह डुबाने में लगे हैं। मगर एक परिचालक ने सोशल मीडिया का सहारा लेकर रोडवेज संचालन को लेकर अच्छी मुहिम शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार जोधपुर से वाया फलसूंड होते हुए बाड़मेर जिले के शिव तक की रोडवेज बस सेवा पहली बार शुरू होने के साथ ही प्रतिष्ठा का सवाल बन गई है। प्राइवेट बस संचालकों ने इसे बंद कराने की कोशिश शुरू कर दी है। इस रोडवेज बस सेवा को सफल बनाने के लिए क्षेत्र के लोगों के बीच सोशल मीडिया पर जोरदार अभियान चलाया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर लोगों को मैसेज भेजे जा रहे हैं कि चाहे थोड़ा ज्यादा किराया देना पड़े रोडवेज को सफल बनाया जाए, ताकि पहली बार शुरू हुई सुविधा बरकरार रह सके। यह पहला मौका है जब एक बस सेवा के लिए इस तरह का अभियान चलाया जा रहा है।

13 अप्रैल से शुरू हुई बस सेवा

जोधपुर से शिव के लिए रोडवेज बस सुबह सात बजे रवाना होती है। बालेसर, शेरगढ़, फलसुण्ड, उण्डु, भियाड़ होते हुए शिव जाती है। दोपहर में 1.10 बजे शिव से रवाना होकर शाम छह बजे जोधपुर पहुंचती है। यह सेवा 13 अप्रैल से शुरू हुई। रोडवेज बस सेवा शुरू होते ही इस रूट पर पहले से चल रहे प्राइवेट बस संचालकों में खलबली मच गई।

उन्होंने रोडवेज के आगे-आगे एक बस चलाना शुरू कर दिया और किराया भी काफी कम कर दिया। इसके बाद रोडवेज बस परिचालक भवानी सिंह भाटी ने सोशल मीडिया पर अभियान शुरू किया। उनके इस अभियान को लोगों की तरफ से भी भरपूर सहयोग मिलना शुरू हुआ। देखते ही देखते पूरे क्षेत्र में यह मैसेज वायरल होना शुरू हो गया। भाटी का कहना है कि प्राइवेट बस संचालकों ने नाक में दम कर रखा है। लेकिन हम डटे हुए हैं।

उनका कहना है कि सोशल मीडिया पर इस सेवा के समर्थन में लोग अपने स्तर पर अभियान चला रहे हैं।
फिलहाल इस बस सेवा को अच्छा समर्थन मिल रहा है। सवारियां भी ठीक मिलना शुरू हो गई हैं।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews