राजू फौजी को जोधपुर में पुलिस ने तड़के हुए एनकाउंटर में दबोचा

राजू फौजी को जोधपुर में पुलिस ने तड़के हुए एनकाउंटर में दबोचा

  • सुबह 6 बजे बनाड़ क्षेत्र की घटना
  • भीलवाड़ा में 2 पुलिस कर्मियों की गोली मारकर हत्या करने के बाद फरार था राजू फौजी
  • पुलिस का सामना होते ही राजू फौजी ने पुलिस पर गोली चला दी
  • जवाब में पुलिस टीम ने गोली चलाई जो राजू फौजी के पैर में लगी
  • एमडीएमएच में चल रहा है उसका इलाज
  • खतरे से बाहर बताया जा रहा है राजू फौजी

जोधपुर, भीलवाड़ा में 2 पुलिस कर्मियों की गोली मारकर हत्या करने के बाद फरार चल रहे आरोपी राजू फौजी को जोधपुर में पुलिस ने आज तड़के हुए एनकाउंटर में दबोच लिया। पुलिस ने राजू को दबोच ने का प्रयास किया तो उसने पिस्तौल से गोलियां चला दीं। जवाबी फायरिंग में राजू फौजी के टखने में गोली लगी। उसे जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती किया गया है।

राजू फौजी को जोधपुर में पुलिस ने तड़के हुए एनकाउंटर में दबोचा

पुलिस के साइबर सेल की सूचना पर 4 जिलों की पुलिस ने कल देर रात को जोधपुर-जयपुर रोड स्थित बनाड़ थाना इलाके के खोखरिया गांव में घेराबंदी कर ली थी। भीलवाड़ा पुलिस के कमांडोज के साथ जोधपुर कमिश्नरेट, जोधपुर देहात जिला नागौर जिला पुलिस के कमांडो ने गांव में पोजीशन ले ली थी। यह घेराबंदी लूणाराम के मकान के चारों तरफ खासतौर से की गई थी। पुलिस को अब इंतजार था राजू फौजी का तड़के एक मोटर साइकिल पर राजू फौजी पहुंचा तो पुलिस के कमांडोज ने उसे दबोच ने का प्रयास किया लेकिन राजू ने पिस्तौल से फायर कर दिए। इस पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की।

राजू फौजी को जोधपुर में पुलिस ने तड़के हुए एनकाउंटर में दबोचा

राजू के बाएं पैर के टखने में गोली लगी। भागने के प्रयास में राजू गिर पड़ा और वहां पड़े पत्थरों से उसके सिर में भी थोड़ी चोट आई। पुलिस उसे दबोच कर सीधा मथुरा दास माथुर अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में ले आई जहां उसका उपचार किया जा रहा है। उसके पैर पर प्लास्टर किया गया है। बाकी चोटें सामान्य बताई जा रही हैं।वह खतरे से बाहर है। डीसीपी ईस्ट भुवन भूषण यादव अस्पताल पहुंचे और उसके बारे में पूरी जानकारी ली।
उन्होंने बताया कि राजू फौजी की गिरफ्तारी के लिए बनाई गई टीम को सूचना मिली कि बनाड़ थाने के खोखरिया गांव में राजू फौजी है। इस पर उनकी टीम के 5 कांस्टेबल आये थे यहां से एसीपी मंडोर,एसएचओ बनाड़, एसएचओ डांगियावास और थानों के सिपाहियों की टीम भेजी गई।इन सभी ने पूरी रात मेहनत कर सुबह 6 बजे राजू फौजी को दस्तयाब किया।

पुलिस का उससे आमना सामना हुआ तो राजू फौजी ने पुलिस टीम पर पिस्टल से फायरिंग कर दी,जवाब में पुलिस टीम ने भी फायरिंग की तो राजू फौजी के पैर में गोली लगी। तब उसे पकड़कर मथुरादास माथुर अस्पताल लेकर आए। यहां पर उसका इलाज चल रहा है। डीसीपी ने बताया कि अस्पताल के डॉक्टरों से उनकी बात हुई राजू फौजी को जान का कोई खतरा नही है। उसे विभिन्न जांचों के लिए ले गए हैं। भागते समय गिरने से उसके सिर पर और कोहनी पर चोट लगी है पर जान का कोई खतरा नही है।उसका सिटी स्कैन हो चुका है,उसमें कुसी तरह का खतरा नही दिखा है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews