जोधपुर रेल मंडल ने हासिल की 1911 करोड़ रुपए की वार्षिक आय

जोधपुर रेल मंडल ने हासिल की 1911 करोड़ रुपए की वार्षिक आय

  • माल ढुलाई से मिले सर्वाधिक 1269 करोड़
  • 2020-21 की तुलना में कुल 69 प्रतिशत अधिक आय
  • सुविधाओं के साथ यात्रियों की संख्या में भी अप्रत्याशित वृद्धि

जोधपुर, उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान 1911 करोड़ रुपए वार्षिक राजस्व हासिल कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। मंडल पर ट्रेनों की समय पालना करीब 98 प्रतिशत रही। इसके साथ ही मंडल ने रेल दोहरीकरण व विद्युतीकरण के क्षेत्र में भी तेजी से कार्य किया।

मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय ने सोमवार को बताया कि मंडल ने वर्ष 2021-22 के दौरान अपना हर क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए एक अरब 911 करोड़ 33 लाख रुपए का वार्षिक राजस्व हासिल करने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने बताया कि मंडल ने माल ढुलाई से 1269 करोड़ रुपए,यात्रियों से 418 करोड़,अन्य कोचिंग राजस्व से 80 करोड़ व पार्सल तथा अन्य मदों से कुल 144 करोड़ रुपए का अब तक का सर्वश्रेष्ठ राजस्व हासिल कर नया कीर्तिमान बनाया है। मंडल को इस वर्ष गत वर्ष की अपेक्षा 69 प्रतिशत अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है।

उन्होंने बताया कि जोधपुर मंडल ने माल ढुलाई से सर्वाधिक आय अर्जित कर भारतीय रेलवे के विकास में अपना उल्लेखनीय योगदान दिया है। इस मद में मंडल ने अपने व्यवसाय में विकास करते हुए 1269 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त किया जो वर्ष 2020-21 के मुकाबले 49 प्रतिशत अधिक है। गत वर्ष जोधपुर से देश से बाहर बांग्लादेश व नेपाल तक लदान किया गया। इसके अलावा जैसलमेर के सोनू से लाइम स्टोन देश के विभिन्न हिस्सों के लिए लदान से भी जोधपुर मंडल को रिकॉर्ड राजस्व हासिल हुआ।

डीआरएम ने बताया कि इसके अलावा जोधपुर मंडल ने सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए यात्री, कोचिंग, टिकट चेकिंग,पार्सल और अन्य मदों से प्राप्त राजस्व में भी उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की है तथा इसे और ऊंचाई पर ले जाने के लिए मंडल संकल्पकृत है।

किस मद में कितनी वृद्धि

जोधपुर मंडल को वर्ष 2021-22 के दौरान यात्री आय मद से 419 करोड़ रुपये का राजस्व मिला जो वर्ष 2020-21 की तुलना में 208 प्रतिशत ज्यादा है। इसी तरह अन्य कोचिंग आय से जोधपुर को 80 करोड़ रुपये की कमाई हुई जो विगत वर्ष 2020-21 की तुलना में 363 प्रतिशत अधिक है। इसके साथ ही अन्य स्रोतों से 144 करोड़ रुपए प्राप्त हुए जो 12 फीसदी ज्यादा है। इस तरह जोधपुर मंडल को एक अरब 911 करोड़ 33 लाख रुपए का कुल राजस्व प्राप्त हुआ ।

सुविधाओं के साथ बढ़े रेल यात्री

जोधपुर मंडल पर रेल दोहरीकरण व विद्युतीकरण जैसी सुविधाओं के साथ ट्रेन से यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में भी आशातीत वृद्धि देखने को मिली है। मंडल पर संचालित विभिन्न ट्रेनों में वर्ष 2021-22 के दौरान एक करोड़ 60 लाख यात्रियों ने यात्रा की जिसमें 2020-21 के मुकाबले सर्वाधिक 406 प्रतिशत की अप्रत्याशित बढ़ोतरी हुई।

इनका कहना है

मुझे इस बात की खुशी है कि जोधपुर मंडल के अधिकारियों व कर्मचारियों ने अपनी मेहनत और निष्ठा के साथ ईमानदारी से कार्य करते हुए जोधपुर मंडल को हर क्षेत्र में नई बुलंदियों तक पंहुचाया है। सभी से टीम वर्क बनाए रखकर और अधिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की अपेक्षा करती हूं। आय के साथ -साथ हमारा बेहतर यात्री सुविधाएं मुहैया करवाने पर भी फोकस है और इस दिशा में हम पूरी ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा से आगे बढ़ रहे हैं।

-सुश्री गीतिका पांडेय
डीआरएम,जोधपुर।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews