child-protection-sankalp-yatra-from-thursday-in-the-gram-panchayats-of-bilara-panchayat-samiti

बिलाड़ा पंचायत समिति की ग्राम पंचायतों में गुरुवार से बाल संरक्षण संकल्प यात्रा

  • यूनिसेफ स्टेट हैड इजाबेल बर्डन ने यात्रा को दिखायी हरी झण्डी
  • बच्चों के शोषण को रोकने एवं भविष्य सँवारने के लिए हुई आमुखीकरण कार्यशाला
  • समर्पित सहभागिता का लिया संकल्प

जोधपुर,बच्चों के भविष्य को सँवारने, बाल शोषण से संबंधित गतिविधियों के समूल उन्मूलन तथा उनके विकास के लिए जरूरी सभी आयामों के प्रति व्यापक लोक जागरुकता पैदा करने के उद्देश्य से बाल हिंसा के विरूद्ध सशक्त अभियान के रूप में जोधपुर जिले की बिलाड़ा पंचायत समिति की चयनित 17 ग्राम पंचायतों में गुरुवार से बाल संरक्षण संकल्प यात्रा आरंभ होगी। यह दो नवम्बर तक चलेगी। इस यात्रा का आयोजन राज्य सरकार की ओर से बाल अधिकारिता विभाग, यूनिसेफ एवं पीसीसीआरसीएस के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है।

उत्सवी माहौल में हुआ यात्रा का शुभारंभ

कलक्ट्री परिसर में बुधवार शाम आयोजित कार्यक्रम में उत्सवी माहौल में गाजे-बाजे की धुनों के बीच यूनिसेफ की राजस्थान स्टेट हैड इजाबेल बर्डन ने हरी झण्डी दिखाकर बाल संरक्षण संकल्प यात्रा रथों को रवाना किया। इस दौरान बिलाड़ा क्षेत्र के अधिकारी,कार्मिक, जनप्रतिनिधि तथा बाल संरक्षण एवं विकास से जुड़े प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। राजस्थान के छह विभिन्न जिलों में बाल संरक्षण के प्रति व्यापक लोक चेतना जगाने के बाद अब यह यात्रा बिलाड़ा में हो रही है।

child-protection-sankalp-yatra-from-thursday-in-the-gram-panchayats-of-bilara-panchayat-samiti

आमुखीकरण कार्यशाला में विस्तार से दी गई जानकारी

इस यात्रा को आशातीत सफलता प्रदान करने के लिए पूर्व तैयारी के रूप में बुधवार शाम जोधपुर जिला कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आमुखीकरण कार्यशाला हुई। इसे संबेाधित करते हुए यूनिसेफ की स्टेट हैड इजाबेल बर्डन ने राजस्थान द्वारा बाल संरक्षण की दिशा में संचालित योजनाओं और कार्यक्रमों की सराहना की और इस दिशा में मुख्यमंत्री अशोेक गहलोत की पहल पर हो रहे अभियान की तारीफ की। ख़ासकर चाइल्ड फ्रैण्डली पुलिसिंग अपने आप में महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि राजस्थान प्रदेश के लिए यह गर्व की बात है कि पालनहार योजना देश की सबसे बड़ी कल्याणकारी योजना है।

सामूहिक प्रयासों में जुटने का आह्वान

उन्होंने कहा कि बच्चों के अधिकारों तथा उनके समग्र विकास के साथ भविष्य को सँवारने के लिए किए जा रहे प्रयासों में पूर्ण सफलता के लिए अधिक से अधिक जन भागीदारी पर बल दिया और जन प्रतिनिधियों, ग्राम्य कार्यकर्ताओं तथा राज्यकर्मियों से कहा कि इस कार्य में आगे आकर समर्पित सहभागिता दिखाएं। यूनिसेफ के कम्यूनिकेशन स्पेशलिस्ट अंकुश सिंह ने बाल संरक्षण संकल्प यात्रा को अधिकाधिक सफल बनाने का आह्वान किया।

यात्रा के उद्देश्यों एवं कार्यकलापों की जानकारी दी

आरंभ में यात्रा संयोजक विपीन तिवारी ने यात्रा के उद्देश्यों तथा क्रियाकलापों तथा बिलाड़ा पंचायत समिति क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में यात्रा के दौरान होने वाले विभिन्न जागरुकता कार्यक्रमों पर विस्तार से प्रकाश डाला और बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई यात्रा ने अब तक राजस्थान के छह जिलों में इस यात्रा ने आशातीत सफलता हासिल की है। उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान बच्चों से संबंधित सात संकल्पों में बाल हिंसा,बाल श्रम, बाल विवाह,भेदभाव आदि के उन्मूलन, बाल मैत्री आदि विषयों पर कानूनों, सरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी दी जाएगी तथा व्यापक जनचेतना पैदा की जाएगी।

यात्रा के नोडल अधिकारी बिलाड़ा के उपखण्ड अधिकारी भवानीसिंह चारण एवं सह प्रभारी विकास अधिकारी पेमाराम पन्नूसा ने बिलाड़ा ब्लॉक में यात्रा को लेकर की गई तैयारियों व निर्धारित की गई गतिविधियों पर बिन्दुवार जानकारी दी।

इन्होंने रखे विचार, दिए सुझाव

आमुखीकरण कार्यशाला में किशोर न्याय समिति के सलाहकार राकेश चौधरी, बाल अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक डॉ.बीएल सारस्वत, जिला परिवीक्षा एवं कारागृह कल्याण अधिकारी रमेशचन्द्र पंवार,करणीसिंह नाथावत, किशोर गृह अधीक्षक मनमीत कौर,बालिका गृह अधीक्षक दीपिका विश्नोई,अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी बन्नालाल मेघवाल, संरक्षण अधिकारी डॉ.सरोज चौहान, बाला ग्राम पंचायत के सरपंच नाथूराम चौधरी,प्रधान प्रतिनिधि शिवराजसिंह, वर्ल्ड विज़न इण्डिया जोधपुर के प्रभारी जितेन्द्र गौरा, सम्पर्क बाल विकास केन्द्र गंगाणी के प्रभारी सौमित्रो बैनर्जी,नर्मदा एजुकेशन के विक्रमसिंह, ओम सोऊ आदि ने विचार रखे और यात्रा को सफल बनाने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिए।कार्यशाला में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का संदेश तथा बाल संरक्षण संकल्प यात्रा की अब तक की उपलब्धियों पर लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। कार्यशाला में बिलाड़ा पंचायत समिति की चयनित ग्राम पंचायतों के सरपंच, ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम्य जन प्रतिनिधि तथा विभिन्न विभागों से संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews