efforts-to-restore-rail-traffic-on-jodhpur-jaisalmer-rail-section-intensified

जोधपुर जैसलमेर रेल खंड पर रेल यातायात बहाल करने के प्रयास तेज

जोधपुर जैसलमेर रेल खंड पर रेल यातायात बहाल करने के प्रयास तेज

  • डीआरएम ने संभाला मोर्चा
  • तेज बहाव के कारण पांच स्थानों पर पटरियों के नीचे से खिसकी मिट्टी
  • दलदल और संकड़े रास्तों के कारण राहत कार्य में आ रही है बाधा

जोधपुर,भारी बरसात के कारण उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल के जैसलमेर रेल मार्ग पर गुरुवार को दूसरे दिन भी रेल यातायात ठप रहा। इस रेल खंड पर लोहावट से फलौदी स्टेशनों के बीच पांच स्थानों पर पानी के तेज बहाव से पटरियों के नीचे से मिट्टी बह गई है। रेल मार्ग पर रेल यातायात बहाल करने के लिए रेल प्रशासन ने युद्ध स्तर पर राहत कार्य शुरू कर दिया है और जल्दी ही ट्रेनों का संचालन शुरू होने की उम्मीद है।

efforts-to-restore-rail-traffic-on-jodhpur-jaisalmer-rail-section-intensified

मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय ने बुधवार को लोहावट फलौदी रेल मार्ग पर पटरियों के नीचे से मिट्टी और कंक्रीट खिसकने की सूचना मिलते ही रेल संचालन रुकवाया और वस्तु स्थिति का जायजा लेने के लिए अपर मंडल रेल प्रबंधक मनोज गुप्ता व वरिष्ठ मंडल इंजीनियरिंग(सेंट्रल) अंशुल सारस्वत को भेजा जिन्होंने वहां पहुंच कर प्रभावित स्थलों का जायजा लिया और रेलवे ट्रैक के रखरखाव का कार्य शुरू करवाया।
बाद में खुद मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय बुधवार देर रात उत्तर-पश्चिम रेलवे मुख्यालय से आए विशेष दल और मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ स्पेशल ट्रेन से लोहावट पहुंची और चल रहे राहत कार्य का जायजा लिया और इस कार्य को निर्धारित मानकों के अनुरूप शीघ्रता से पूरा करने के निर्देश दिए इस दौरान उन्होंने ट्रैक दुरुस्त करने में लगे कर्मचारियों से बातचीत की।

जोधपुर से लोहावट गई स्पेशल ट्रेन में डीआरएम के साथ अपर मंडल रेल प्रबंधक मनोज गुप्ता, वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी शिखर बी मारू वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय) मुकेश कुमार मीणा वरिष्ठ मंडल अभियंता (सेंट्रल) अंशुल सारस्वत, वरिष्ठ मंडल अभियंता (ईस्ट) मनोहर सिंह, वरिष्ठ मंडल अभियंता (वेस्ट) योगेश कुमार सहित अनेक अधिकारी और निरीक्षक प्रभावित स्थानों पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया।

जल भराव,दलदल और संकरे रास्ते से आ रही है बाधा

डीआरएम ने बताया कि अत्यधिक बारिश से क्षेत्र में भारी जलजमाव और दलदल की स्थिति,कटाव वाले क्षेत्रों में दोनों तरफ मार्ग की चौड़ाई कम होने से मशीनों को प्रभावित स्थानों पर पहुंचाने में समस्या उत्पन्न हो रही है इसके बावजूद तीन स्थानों पर ट्रक के नीचे मिट्टी और कंक्रीट बिछाने का काम पूरा करवा लिया गया है तथा जल्दी ही शेष स्थानों पर भी मरम्मत का काम पूरा कर इस मार्ग पर रेल यातायात शुरू करने का प्रयास किया जा रहा है।

जल प्लावन से प्रभावित परिवारों को दी सहायता राशि और राशन सामग्री

डीआरएम पांडेय लोहावट से फलोदी के बीच क्षतिग्रस्त रेल मार्ग का जायजा लेने के दौरान आसपास के इलाकों में भी पहुंची जहां भारी बरसात के कारण अनेक परिवार प्रभावित हुए हैं। इन परिवारों के प्रति सहानुभूति प्रकट करते हुए उन्होंने न केवल उन्हें रात को राशन सामग्री उपलब्ध करवाई बल्कि उत्तर पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की ओर से प्रभावित परिवारों को दस हजार रुपए की सहायता राशि भी प्रदान की।

रेल यातायात दूसरे दिन भी रहा बाधित

जोधपुर जैसलमेर रेलखंड पर जलभराव की स्थिति के कारण गुरुवार को दूसरे दिन भी रेल यातायात पूरी तरह से ठप रहा। इस खंड पर जोधपुर से चलने वाली गाड़ी संख्या 14810/14809, 04826/ 14826 जोधपुर-जैसलमेर-जोधपुर एक्सप्रेस गुरुवार को भी रद्द रही। इधर काठगोदाम से चलकर जैसलमेर जाने वाली ट्रेन नंबर 15014 रानीखेत एक्सप्रेस को भगत की कोठी रेलवे स्टेशन पर ही रद्द कर दिया गया। इसी प्रकार जैसलमेर से चलकर जम्मू तवी को जाने वाली गाड़ी संख्या 14645 शालीमार एक्सप्रेस गुरुवार को जोधपुर से संचालित किया गया।

रिफंड की व्यस्था

हालांकि रेल प्रशासन ने रद्द की जा रही ट्रेनों के यात्रियों को उनके गंतव्यों तक पहुंचाने के लिए अपने स्तर पर बसों की व्यवस्था खानपान और सुरक्षा के इंतजाम किए हैं, इसके बावजूद ट्रेन रद्द होने पर यात्रियों को टिकट के रिफंड की व्यवस्था भी की है इसके अलावा रद्द की जा रही गाड़ियों की सूचना आरक्षित टिकट धारकों के मोबाइल पर मैसेज के द्वारा दी जा रही है।

हेल्प लाइन नम्बर जारी

रेल प्रशासन ने भारी बरसात के कारण उपजी परिस्थितियों के मद्देनजर यात्रियों की सुविधा हेतु विशेष कंट्रोल रूम बनाकर तीन हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं जिस पर प्रभावित यात्री किसी भी समय सहायता के लिए कॉल कर सकते हैं। ये नंबर 7849832262,02912431646 व 02912654993 हैं।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts