कांस्टेबलों का हथियारों की गैंग से सांठगांठ का अंदेशा

कांस्टेबलों का हथियारों की गैंग से सांठगांठ का अंदेशा

अस्पताल से बंदी का घुमाने का मामला

  • बंदी की जगह कॉटेज वार्ड में सोया नाबालिग निरुद्ध
  • दो कांस्टेबल समेत 4 आरोपियों को 3 दिन की पुलिस रिमांड
  • वाहन जब्त

जोधपुर, शहर के मथुरादास माथुर अस्पताल के कॉटेज वार्ड में भर्ती बंदी को बाहर घूमने के लिए भेजने के मामले में गिरफ्तार दो पुलिसकर्मी सहित 4 आरोपियों को रविवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। जहां से चारों को तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए। साथ ही नाबालिग को भी निरुद्ध किया। क्योंकि कॉटेज वार्ड में नाबालिग ही बंदी की जगह रहा। उसी ने पार्किंग ठेकेदार के साथी के साथ मिलकर कॉटेज वार्ड का दरवाजा बंद कर दिया था।

पुलिस चारों आरोपियों से पूछताछ करेगी। साथ ही वह अस्पताल से कहां गया उसके बारे में भी जानकारी जुटाएगी। क्योंकि आरोपी पार्किंग ठेकेदार उसे अस्पताल से बाहर ले गया था। इस मामले में पुलिस सीसीटीवी खंगालकर यह पता लगाएगी कि आरोपी पार्किंग ठेकेदार ने बंदी को कहां उतारा और वह किसके साथ बाहर गया। पुलिस ने आरोपी पार्किंग ठेकेदार की गाड़ी जिसमें बैठाकर वह बंदी को बाह ले गया, उसे जब्त की है। गौरतलब है कि गुरुवार देर रात कॉटेज वार्ड में भर्ती बंदी रामनिवास जाट के कहने पर चालानी गार्ड ने उसे गुपचुप तरीके से बाहर जाने दिया। इस बीच वह तीन घंटे तक बाहर रहा।

आखिरकार जब नर्सिंग ऑफिसर स्मिता ने कॉटेज वार्ड का दरवाजा खटखटाया तो मामला सामने आया। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने चालानी गार्ड प्रभारी हैड कांस्टेबल परसादीलाल मीणा, कांस्टेबल श्रवण,सुखवीर, सत्य नारायण और नरेंद्र को निलंबित कर दिया। शनिवार को शास्त्रीनगर थाना पुलिस ने कांस्टेबल सुखवीर और नरेंद्र के अलावा एमडीएमएच पार्किंग के ठेकेदार राधेश्याम और रामकिशोर को गिरफ्तार किया था।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews