राजस्थान में 115 सीटों के साथ भाजपा को पूर्ण बहुमत

राजस्थान में 115 सीटों के साथ भाजपा को पूर्ण बहुमत

  • कांग्रेस को 69 सीटें मिली
  • 15 सीटों पर अन्य को जीत मिली
  • सरदारपुरा से अशोक गहलोत जीते
  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंपा
  • पूर्व मुख्यमंत्री बसुंधरा राजे जीतीं
  • विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी चुनाव हारे

जयपुर,राजस्थान विधान सभा चुनाव में आज आए परिणाम में मतदाता ने हर पांच साल में सरकार बदलने का चलन जारी रखते हुए इस विधानसभा चुनाव-2023 में भाजपा को पूर्ण बहुमत सौंप दिया। भाजपा को राजस्थान में 115 सीटों पर जीत हांसिल हुई है। कांग्रेस को 69 सीटों पर संतोष करना पड़ा है। कांग्रेस ने अपनी हार मान ली है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया है। अशोक गहलोत सरदारपुरा से जीत गए हैं। विधान सभा अध्यक्ष डॉ.सीपी जोशी को भी हार का सामना करना पड़ा है। राजस्थान विधान सभा की 200 सीटों में से श्रीकरणपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत कुन्नर के निधन के कारण वहां चुनाव नहीं हुए और 199 सीटों के लिए 25 नवंबर को मतदान हुआ,जिसके परिणाम आज रविवार को घोषित किए गए।

यह भी पढ़ें- कलेक्ट्रेट के बाहर छात्र से मोबाइल लूट के तीन आरोपी गिरफ्तार

जयपुर के हवामहल सीट से धर्म गुरु बालमुकुंद आचार्य जीत गए,वे एक हजार वोट से कम अंतर से जीते हैं। उन्होंने कांग्रेस के आरआर तिवाड़ी को हराया। जयपुर की विद्याधर नगर सीट से दीया कुमारी सर्वाधिक 71,368 वोटो से चुनाव जीती हैं। यह जीत जयपुर की अब तक की सबसे बड़ी जीत है। उन्होंने कांग्रेस के कोषाध्यक्ष सीताराम अग्रवाल को शिकस्त दी। कोटा उत्तर से मंत्री शांति धारीवाल ने एक बार फिर जीत दर्ज करने में कामयाब हुए हैं। उन्होंने 2486 वोट से भाजपा के प्रहलाद गुंजल को शिकस्त दी। सीकर विधानसभा सीट से कांग्रेस के राजेंद्र पारीक विजयी रहे। पारीक ने भाजपा के रतनलाल जलधारी को 29 327 वोट से हराया। पारीक को 95722 वोट और जलधारी को 66395 वोट मिले। चित्तौडगढ़ से भाजपा के बागी चंद्रभान सिंह आक्या जीत गए हैं। बहरोड़ से भाजपा प्रत्याशी जसवंत सिंह यादव ने भी जीत हांसिल कर ली,उन्हें 69,143 वोट मिले,उनकी जीत का मार्जिन 16,815 रहा। निर्दलीय बलजीत यादव को 52,328 वोट मिले। कांग्रेस प्रत्याशी संजय यादव को 45,601 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा। दूदू में बीजेपी प्रत्याशी प्रेमचंद बैरवा जीते। पिंडवाड़ा (सिरोही) सीट से भाजपा के समाराम गरासिया जीत गए हैं। भाजपा के समाराम को 700 83 वोट मिले। कांग्रेस के 56 हजार 917 वोट हासिल हुए। समाराम गरासिया 13 हजार 166 वोट से जीतने में सफल रहे। चौरासी सीट से भारतीय आदिवासी पार्टी के राजकुमार रोत ने जीत दर्ज की है। उन्होंने भाजपा के सुशील कटारा को 69166 वोट से हराया है। कटारा को 41984 वोट मिले। चुनाव आयोग ने इसकी उनके जीतने की आधिकारिक घोषणा कर दी है। अजमेर दक्षिण से भाजपा प्रत्याशी अनिता भदेल जीत गई है। उन्हें 71,319 वोट मिले, उनकी जीत का मार्जिन 4446 रहा। कांग्रेस की द्रोपदी कोली को 66,873 वोट मिले। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल चुनाव जीते। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले की 10 सीटों में भी भाजपा के खाते में 8 सीटें गई हैं। कांग्रेस को 2 सीट ही मिल पाई जिसमे 1 मुख्यमंत्री गहलोत की सरदारपुरा और दूसरी भोपालगढ़ सीट पर जीत मिली है।

बसुंधरा राजे जीती
राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री भाजपा नेता झालरापाटन से वसुंधरा राजे बड़े अंतर से चुनाव जीती हैं,उन्होंने कांग्रेस के रामलाल चौहान को हराया। प्रदेश में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। झालरापाटन हाड़ौती की हॉट सीट मानी जा रही थी,यहां से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे मैदान में थीं। खास बात यह रही कि राजे ने पहले राउंड से ही बढ़त बना ली थीं जो अंतिम राउंड तक कायम रही। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी रामलाल चौहान को 53193 मतों के अंतर से पराजित किया। बसुंधरा राजे को कुल 138831 वोट मिले,कांग्रेस प्रत्याशी को 85638 मत हासिल हुए। इस बार के चुनाव में भाजपा ने सीएम का चेहरा उजागर नही किया था। राजस्थान चुनाव में भाजपा ने मोदी का चेहरा सामने रख कर मतदाता के पास गए,राजस्थान में मोदी ने कई सभाएं की। यह तय माना जा रहा है कि मोदी का जादू बरकरार है। बसुंधरा ने इस बार चुनाव में कई रैलियों को संबोधित किया था। ऐसे में उनके कई समर्थक प्रत्याशी विजयी बजी हुए हैं। ऐसे में अब सबकी नजर आगामी 8 दिसंबर को होने वाली भाजपा की बैठक पर टिकी है,जिसमें मुख्यमंत्री का नाम तय होना है।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts