ओमिक्रॉन व डेल्टा वैरियंट के केसों में बढ़ोतरी हुई है, हमे अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत- शेखावत

ओमिक्रॉन व डेल्टा वैरियंट के केसों में बढ़ोतरी हुई है, हमे अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत- शेखावत

  • छह माह बाद भी स्वास्थ्य केंद्र अपग्रेड नहीं, शेखावत ने जताई नाराजगी
  • केंद्रीय मंत्री ने पूछा- जनसहयोग से कार्य होना था तो क्यों गंभीर नहीं हुए सीएमएचओ
  • बोले-जिला प्रशासन को पूरा सकारात्मक सहयोग मिलेगा यह मेरा दायित्व है

जोधपुर, स्थानीय सांसद और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने जनसहयोग से ग्रामीण क्षेत्र के स्वास्थ्य केंद्रों को अपग्रेड करने की योजना में ढिलाई बरतने पर कड़ी नाराजगी जताई है। सीएमएचओ को खरी-खरी सुनाते हुए शेखावत ने कहा कि छह माह बाद भी आप स्वास्थ्य केंद्रों के अपग्रेड को लेकर गंभीर नहीं हुए हैं। यह रेड टेपजिम है।

कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर केंद्रीय मंत्री शेखावत ने शनिवार को सर्किट हाउस में जिला प्रशासन, पुलिस और चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि दूसरी लहर के समय जिले में प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को अपग्रेड कर चिकित्सा संबंधी व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने के लिए योजना बनाई गई थी। यह काम जनसहयोग से होना था और चिकित्सा विभाग का एक पैसा खर्च नहीं होना था। हमने धनराशि उपलब्ध कराने के प्रयास किए, लेकिन चिकित्सा विभाग छह माह बाद भी कोई काम नहीं कर पाया है और तो और स्वीकृति देने में भी दिक्कत हो रही है।

ओमिक्रॉन व डेल्टा वैरियंट के केसों में बढ़ोतरी हुई है, हमे अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत- शेखावत

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि जब दानदाता पैसा देने को तैयार हैं तो हमें आगे बढ़कर सहयोग करना चाहिए। आगे किसी प्रकार की ढिलाई नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जोधपुर में प्रशासन को मेरा जो भी सहयोग चाहिए, कहीं कोई दिक्कत हो, तत्काल प्रभाव से बताओ। केंद्र सरकार के स्तर पर आपको पूरा सकारात्मक सहयोग मिलेगा। यह मेरा दायित्व है।

हमें अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि एकाएक पूरी दुनिया और भारत में ओमिक्रॉन व डेल्टा वैरियंट के केसों में बढ़ोतरी हुई है। 29 दिसंबर से 7 जनवरी तक रोजाना आने वाले केसों की संख्या 9000 से बढ़कर एक लाख को पारकर गई है यानी 11 गुना से अधिक केस बढ़े हैं, हालांकि इस बार जो वैरियंट है, वो उतना घातक नहीं दिख रहा है। केवल 6-7 प्रतिशत मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराने की आवश्यकता पड़ रही है। फिर भी जिस गति से केस बढ़ रहे हैं, उसे देखकर लगता है कि संक्रमितों की संख्या बहुत बढ़ने वाली है। हमें अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत है।

ओमिक्रॉन व डेल्टा वैरियंट के केसों में बढ़ोतरी हुई है, हमे अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत- शेखावत

अफसरों से लिया फीडबैक

शेखावत ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर जोधपुर जिले की स्थिति का जायजा और चिकित्सा संबंधी व्यवस्थाओं का फीडबैक लिया। शेखावत ने पूछा कि अस्पतालों में वर्तमान में क्या स्थिति है? उन्होंने कहा कि अस्पतालों में चिकित्सकों और चिकित्सकीय स्टाफ को सतर्कता से काम करना होगा। नियमित कोविड टेस्ट की संख्या बढ़ानी चाहिए। उन्होंने जोधपुर एम्स, मेडिकल कॉलेज और चिकिसा विभाग को तत्काल चाक-चौबंद व्यवस्था करने, अस्पतालों में बेड,वेंटीलेटर्स, ऑक्सीजन प्लांट की जांच कर तैयार रखने,अटल कम्यूनिटी कोविड रिलीफ सेंटर सहित अन्य अस्थाई व्यवस्थाएं तैयार रखने के निर्देश दिए।

ये रहे बैठक में मौजूद

जिला कलेक्टर डॉ. इंद्रजीत सिंह, पुलिस आयुक्त जॉस मोहन,जोधपुर एम्स के निदेशक डॉ. संजीव मिश्रा, एसएन मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. एसएस राठौड़,सीएमएचओ डॉ. बलवंत मंडा, एम्स के अधिकारी एनआर विश्नोई,महापौर दक्षिण वनिता सेठ,जोधपुर शहर जिला भाजपा अध्यक्ष देवेंद्र जोशी, देहात अध्यक्ष मनोहर पालीवाल, पूर्व विधायक जोगाराम पटेल सहित अनेक अधिकारी बैठक में मौजूद थे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews