सरकार को कुर्सी की फिक्र है डेगू मरीजों की नही- पूनियां

सरकार को कुर्सी की फिक्र है डेगू मरीजों की नही- पूनियां

जोधपुर, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डा. सतीश पूनिया जोधपुर में एक दिवसीय प्रवास कार्यक्रम के दौरान सर्किट हाउस में कार्यकर्ताओं से संवाद किया। पूनिया के एक दिवसीय प्रवास कार्यक्रम के दौरान जिलाध्यक्ष जोशी के नेतृत्व में जिला पदाधिकारी, मण्डल, मोर्चा एवं कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत किया गया। इस अवसर पर पूनियां मीडिया से रूबरू हुए। पूनिया ने प्रदेश में बढ़ते डेंगू के मामलों को लेकर सरकार पर आक्रोश जताया। उन्होंने डेंगू मामलें में अप्रत्याशित बढौतरी पर चिंता जताते हुए राज्य सरकार की कार्यशैली को कटघरे में रखा। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि गहलोत सरकार को डेंगू मरीजों की जरा भी फिक्र नहीं । उन्हें मरीजों की बजाय खुद की कुर्सी बचाने की चिंता ज्यादा दिखाई दे रही है।

सरकार कोरोना संक्रमण के दौरान किये गये प्रबंधन में जिस तरह से फेल हुई है, ठीक वैसी ही स्थिति अब डेंगू के हालातों में भी देखने को मिल रही है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री डा. रघु शर्मा पर भी लापरवाही का आरोप लगाया। जब डेंगू चरम पर है तो हमारे चिकित्सा मंत्री राजनीति पर्यटन में व्यस्त हैं। उन्हें प्रदेश की जनता की कोई परवाह नहीं है। सरकार अपनी कुर्सी की फिर्क ज्यादा कर रही है डेगू मरीजों की कम। पूनिया ने कहा कि वे जनहित के मुद्दो पर प्रदर्शन का आगाज करने के लिये मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र पहुंचे है।

प्रदेश में बढ़ती बिजली दरें, बढ़ते अपराध, सम्पूर्ण किसान कर्ज माफी, परीक्षाओं में धांधली सहित अन्य मुद्दो को लेकर गहलोत सरकार के खिलाफ हल्ला बोल आन्दोल प्रदेश भर में शुरू किया गया है। जिसकी शुरूआत ओसियां उपखंड मुख्यालय से की है। उन्होंने कहा कि नवम्बर में सभी जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन होंगे और 15 दिसम्बर को जयपुर में दो लाख से अधिक कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में बड़ा आन्दोलन होगा।

इस दौरान महापौर वनिता सेठ, जिलाध्यक्ष देवेन्द्र जोशी, देहात जिलाध्यक्ष जगराम विश्नोई, मनोहर पालीवाल, ओबीसी मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य डाॅ. संगीता सोलंकी, उप महापौर किशन लड्डा, राजेन्द्र बोराणा, जिला महामंत्री देवेन्द्र सालेचा, महेन्द्र मेघवाल, डा. करणीसिंह खीची, इन्द्रा राजपुरोहित, शशिप्रकाश प्रजापत, जगदीश धाणदिया,नरेश सुराणा,राजेन्द्र बोहरा, सुभाष गहलोत, राजेन्द्र पालीवाल, भंवरलाल दईया, चेनसिंह इन्दा, कमलेश गोयल, विजय राजोरिया, मधुबाल दवे, विजयलक्ष्मी नाथ, अल्का थामेत, अमिता गहलोत, संजय चंदीरमानी, लक्ष्मीनारायण सोलंकी, जमना देवी बंजारा, जुगल तापड़िया, मनीष परिहार, महेश व्यास, सुनील कुमार भाटी, भवानी प्रताप सिंह शेखाावत, महेन्द्र छंगाणी, भुपेन्द्रराज सिंघवी, माधोसिंह परिहार, राकेश बागरेचा, श्याम सुन्दर गौड़, ललित पारवानी, ताराचन्द गहलोत, गौरव जैन, गजेन्द्र मेवाड़ा, अब्दुल रशीद अब्बासी, सुरेश तेजी, सुरेश मेघवाल, मनोज डगला, घनश्याम पंवार, रफीक लौहार, सुरेश जोशी, प्रतिपाल सिंह वालेचा, रामप्रकाश चैधरी, विकास चाण्डा सहित कई भाजपा कार्यकर्ता मौजुद थे।
सर्किट हाउस से पूनिया एमडीएम अस्पताल में भर्ती बाड़मेर निवासी भाजपा कार्यकर्ता अचलाराम व उदाराम की सार-संभाल की। इसके बाद वे ओसिया के लिये रवाना हो गए।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews