स्थानीय चोरों व बदमाशों को पकड़ऩे में कामयाब, बाहरी गैंग पकड़ऩे में फिसड्डी

स्थानीय चोरों व बदमाशों को पकड़ऩे में कामयाब, बाहरी गैंग पकड़ऩे में फिसड्डी

कमिश्ररेट पुलिस की 2021 की घटनाएं

जोधपुर,कमिश्नरेट में साल 2021 में कई बड़े अपराध हुए। चोरियों से लेकर साइबर क्राइम तक। राज्य सरकार पुलिस बल का सशक्त बनाने के लिए नित नए संसाधन उपलब्ध करवा रही है। अपराधों  को रोकने के लिए पुलिस सीसीटीवी कैमरों को अधिकाधिक लगवाने पर बल दे रही है। कैमरों से स्थानीय चोर बदमाश तो पकड़े जाते हैं, मगर बाहर से आने वाली गैंग पुलिस को नाको चने चबवा रही है। कमिश्नरेट पुलिस ने शहर में साल भर में कई चोरियां हुई और कई चोरियों का खुलासा भी किया। साइबर क्राइम के कई बड़े अपराध सामने आए और कईयों के रूपए उनके खाते भी डलवा दिए। साइबर टीमें भी अच्छा काम कर रही हैं। मगर बाहरी गैंग का पता लगा पाने में कमिश्रेट पुलिस फिसड्डी साबित हो रही है। उनमें भले लूट का केस हो या फिर फायरिंग कर हत्या करने वाले। छह माह या साल भर तक पुलिस इनकी खाक छानती फिरती है। मगर कामयाबी नहीं मिल पा रही है।

बड़े अपराधों की बात करें तो पता लगता है कि सरदारपुरा में दो और महामंदिर थाना क्षेत्र में एक वृद्धा को चार लोगों ने एक ही दिन में खुद को पुलिस वाला बता कर लाखों के गहने लेकर चंपत हो गए थे। घटना सितंबर माह में हुई, मगर आज तक पता नहीं चला है। इसके अलावा सदर बाजार हलके में दिनदहाड़े एक महिला से दो युवक उसके लाखों के गहने उतरवा कर ले गए। जो अभी जांच में ही है। साइबर क्राइम में कुख्यात अपराधी लारेंस विश्रोई के गुर्गे ने गत दिनों ट्रेवल एजेंसी संचालक मनीष जैन को फिरौती के नाम पर फिर से वसूली के लिए धमकाया था। इसका आज तक खुलासा नहीं हो पाया। ट्रेवल एजेंसी संचालक के घर जाने वाले रास्ते पर पुलिस के बेरिकेट आज तक लगे हुए हैं। क्या पुलिस आशंकित है कि हमला हो सकता है? इस बात को भी दो माह बीत गए हैं।

करवड़ में नवंबर माह में एसबीआई बैंक में घुसे दो बदमाश पिस्टल दिखाकर केशियर के पास रखा 11.95 लाख का बैग लूट कर ले गए। पुलिस की भरसक प्रयास के बाद भी लुटेेरे हाथ नहीं लग पाए। रातानाडा में बंदी सुरेश सिंह की हत्या की गई। उसे गोली मारने वाले शूटर संभवत: दो भाई थे। जो अब भी पुलिस की पकड़ से दूर है। युवकों का पिता जबर सिंह अभी पुलिस अभिरक्षा में चला आ रहा है। आने वाले गुरूवार या शुक्रवार को उसकी रिमाण्ड अवधि भी खत्म हो जाएगी।

सदर बाजार हलके में घोड़ों का चौक क्षेत्र में दो युवक खुद को पुलिस वाला बनकर एक सुनार के परिचित से 6.50 लाख रूपयों का पार्सल ले गए। युवक बाहरी थे, जिसका भी सुराग पुलिस नहीं ढूंढ पाई। इसके अलावा शादी समारोह में बैग उड़ाने वाली कई गैंग सक्रिय हुई। आधा दर्जन शादी स्थलों से बैग को उड़ाया गया। मगर कमिश्ररेट पुलिस बाहरी गैंगों का पता नहीं लगा पाई।

भाटी सर्किल बंदी हत्याकांड

शहर के रातानाडा थाना इलाके के भाटी चौराहा के पास पुलिस सुरक्षा में अंधाधुंध फायरिंग कर पेशी से लौट रहे एक बंदी की हत्या कर दी गई थी। पुलिस कस्टडी में 18 दिसंबर को ये वारदात हुई, लेकिन वारदात के दस दिन बाद भी शूटर अब भी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं। पाली जिले के गुड़ा ऐंदला थाना इलाके के मणिहारी निवासी हिस्ट्रीशीटर जबरसिंह फिलहाल दस दिनों की रिमाण्ड पर है। लेकिन पुलिस द्वारा की जा रही पूछताछ में उसने मुंह नहीं खोला। बदमाशों को पकड़ऩे के लिए डांगियावास थानाधिकारी कन्हैयालाल व उदयमंदिर थानाधिकारी अमित सिहाग भी टेक्निकल तौर पर मदद कर रहे हैं।

अजमेर की महिला को झांसा

अजमेर निवासी एक महिला शादी के सिलसिले में बासनी स्थित अपने पीहर आई हुई थी। वह खरीदारी करने अपराह्न में अकेली ही त्रिपोलिया बाजार गई। सिलावटों का बास पहुुंचने पर मास्क पहने एक व्यक्ति पैदल चल रही महिला के पास आया और कपड़े खरीदने के लिए दुकान के बारे में पूछा। इस पर महिला ने उसे दुकान का पता बताया। फिर वह महिला से बातें करने लग गया। उसने कहा कि वो वृंदावन से आए हैं और लोगों की मनोकामनाएं पूरी करने में मदद करते हैं। उसकी जो भी मनोकामना है वो जल्द ही पूर्ण होगी। ठग ने महिला से प्रसाद लाकर देने को कहा। महिला ने आस-पास से प्रसाद लाने की कोशिश की, लेकिन व्यवस्था नहीं हो पाई। अनजान व्यक्ति ने बातों के झांसे में लिया। बातों में आकर महिला ने सोने का मंगलसूत्र,कानों के टॉप्स व सोने की चार अंगूठियां उतारकर उस व्यक्ति को दे दी।

महिला अपराधी भी पीछे नहीं रही, नौकरानी बनकर घुसी घरों में

पाल रोड स्थित श्याम नगर क्षेत्र में एक व्यवसायी के घर में लाखों की चोरी हो गई। काम मांगने का बहाना कर दो महिलाएं घर में घुसी और 20 लाख की ज्वैलरी चुरा चंपत हो गई। घर वालों को भनक लगी तब तक महिलाएं गायब हो चुकी थी। घर वालों ने पुलिस को जानकारी दी। पुलिस सीसीटीवी कैमरे खंगाल कर चोर महिलाओं को ढूंढ रही है। शहर में यह दूसरी घटना है। इससे पहले भी एक घटना हो चुकी है।

शादी समारोह से बैग लिफ्टिंग

रेलवे सामुदायिक भवन केंद्र में चले र एक शादी समारोह आयोजन में जेवर और नगदी से भरा बैग पार हुआ था। इस बैग में 86 हजार की नगदी, सोने की अंगुठी और चांदी की पायल जोड़ी थी। यह सारी रकम कन्यादान के लिए रखी गई थी। इस बारे में भैरूविलास निवासी रोहित कुमार पुत्र नंदकिशोर की तरफ से रिपोर्ट दी गई थी। शादी समारोह आयोजन स्थलों से बैग और अटैची चोरी की यह चौथी वारदात थी। इससे पहले भी रातानाडा की एक होटल, एक सामुदायिक केंद्र के अलावा चौपासनी हाऊसिंग बोर्ड और देवनगर हलके में मैरिज पैलसों में वारदातें हो चुकी थी।

एसबीआई बैंक में लूट

गत 10 नवंबर बुधवार को दिन दहाड़े गांगाणी में एसबीआई बैंक में घुसे दो नकाबपोश युवक चाकू और पिस्टल दिखाकर बैंक केशियर से 11.95 लाख रूपए लूट कर ले गए थे। इसमें एक संदिग्ध का फुटेज शनिवार को पुलिस ने जारी करते हुए पांच हजार का इनाम घोषित किया था।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews