पुलिस ने सीन रिक्रिएट कर जाना मामला को

पुलिस ने सीन रिक्रिएट कर जाना मामला को

  • हत्या या आत्महत्या
  • हुबूहु सीन को दोहराया गया
  • विस्तृत जांच, मृतक के भाई ने जुटाए सबूत पुलिस को दिए

जोधपुर, शहर के निकट कुड़ी इलाके में ढाई माह पहले निजी कंपनी मैनेजर की संदिग्ध मौत को भाई ने हत्या का अंदेशा जताते हुए रिपोर्ट दी थी। पुलिस की तरफ से जांच सही ढंग से नहीं होने पर मृतक के भाई ने अपने स्तर पर साक्ष्य जुटाए और फिर सबूत पुलिस तक पहुंचाए। पुलिस ने जिस घटना को आत्महत्या माना उसमें हत्या जानकर सीन को रिक्रिएट किया। सोमवार को कुड़ी पुलिस थानाधिकारी सहित अन्य अफसरों ने सीन को रिक्रिएट कर परिस्थिति को जाना। अब इसमें अनुसंधान जारी है। मगर अब तक प्रकरण में कोई गिरफ्तारी आज तक नहीं हो पाई।

शहर के कुड़ी थाना इलाके में गत 10 अगस्त को एक मोबाइल कंपनी के मैनेजर का संदिग्ध हालत में उसी के फ्लैट में शव मिला था। मूलत: यूपी के गोरखपुर हाल वैशीली ऑर्बिट कुड़ी निवासी 32 साल के अभय कुमार की संदिग्ध मौत के मामले में भाई निर्भय ने उनकी महिला साथी व एक अन्य पर आरोप लगाते हुए कुड़ी थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया था। महिला साथी भी नामी मोबाइल कंपनी में मैनेजर के पद पर कार्यरत है।

बीकानेर की एफएसएल टीम पहुंची

मामले में सोमवार को बीकानेर की एफएसएल टीम ने कुड़ी पुलिस की उपस्थिति में फिर से क्राइम सीन रिक्रिएट किया। क्राइम सीन तकरीबन ढाई घंटे तक चला। जिसमें मृतक के वजन के बराबर 90 किलो वजनी लोहे की बॉडी तैयार कर लाए, फिर फंदे (पर्दे) से लटका पूरा सीन किया गया। जिसमें एफएसएल टीम ने पूरे सीन की बारिकियों से पड़ताल की, अब मामले में एफएसएल की रिपोर्ट ही तय करेगी की ये आत्महत्या है या फिर हत्या कर उसे आत्महत्या की कहानी में बदला गया।

पिता व भाई ने जुटाए साक्ष्य

इस पूरे मामले में कहीं न कहीं पुलिस ने पहले मामले को हलके में लिया, लेकिन जब मृतक का पिता व भाई ने 25 दिनों तक सबूत जुटाए, पुलिस थाने से लेकर कमिश्नर ऑफिस तक चक्कर काटे तो महिला साथी रीना यादव उर्फ रीना रावत व रोबिन बंसल के खिलाफ संदेह जताते हुए हत्या में केस दर्ज करवाया तो जांच आगे बढ़ी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews