my-cousin-died-in-a-road-accident-the-familys-allegation-was-not-an-accident-it-was-a-murder

सड़क हादसे में मौसेरे भाई बहन की मौत: परिजन का आरोप हादसा नहीं, हत्या हुई

  • विरोध में लूणी के बाजार हुए बंद
  • लोगों में घटना को लेकर रोष
  • लूणी थाने में हत्या का मामला दर्ज -नहीं उठाए शव
  • मृतकों के आश्रितों को 50-50 लाख मुआवजा और अन्य मांगे रखी -एमडीएम मोर्चरी पहुंचे जनप्रतिनिधि

जोधपुर,शहर में सोमवार की सुबह लूणी क्षेत्र में हुई सड़क़ दुर्घटना में मौसेरे भाई बहन की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद परिजनों और ग्रामीणों में रोष व्याप्त हो गया। मथुरादास माथुर अस्पताल की मोर्चरी पर भी काफी लोगों का जमावड़ा हो गया।
सोमवार सुबह मौसी का बेटा अपनी बहन को पटवारी की नौकरी जॉइन करवाने जा रहा था। तभी एक कार ने दोनों को रौंद दिया। ड्राइवर दोनों को 200 मीटर तक घसीटता हुआ ले गया। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

my-cousin-died-in-a-road-accident-the-familys-allegation-was-not-an-accident-it-was-a-murder

घटना लूणी थाना क्षेत्र के सर गांव की सरहद पर सुबह करीब 9 बजे का है। कविता पटेल ने पटवारी 2021 का एग्जाम दिया था। इसके बाद आज सोमवार को जोधपुर तहसील ऑफिस में पहली बार जॉइन करना था। कविता रोहिचा कलां गांव की रहने वाली है। सर गांव में उसका ससुराल है लेकिन ससुराल व पीहर पक्ष के लोग कर्नाटक में रहते हैं। इसी गांव में मौसी का बेटा रमेश पटेल रहता है। लूणी से जोधपुर की दूरी करीब 37 किलोमीटर है। ऐसे में रमेश मौसी की बेटी कविता को लेकर बाइक पर ही जोधपुर के लिए रवाना हो गया। गांव से निकलते ही एक कार ने टक्कर मार दी।

my-cousin-died-in-a-road-accident-the-familys-allegation-was-not-an-accident-it-was-a-murderlp

हादसे में दोनों की मौत,परिजन का आरोप हादसा नहीं है

हादसे के बाद ड्राइवर रुका नहीं। वह दोनों भाई-बहन को घसीटते हुए ले गया। हादसे में रमेश एक तरफ नीचे गिरा तो दूसरी तरफ उछल कर कविता गिरी। इस हादसे के बाद दोनों भाई-बहन के शव को जोधपुर के शास्त्री नगर स्थित मथुरा दास माथुर अस्पताल लाया गया। हादसे के बाद लोगों ने आरोप लगाया कि जानबूझ कर दोनों भाई-बहन की हत्या की गई। इसके बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए और आरोप लगाया कि हादसे का रूप देने की कोशिश की जा रही है। इसके बाद से स्थानीय लोगों ने लूणी के बाजारों को बंद कर विरोध जताया गया।

मौसेरे भाई का वीडीओ में हुआ सलेक्शन

जानकारी के अनुसार कविता की शादी एक साल पहले हुई थी। कविता का परिवार और ससुराल दोनों कर्नाटक में रहते हैं। मृतका के पति का मिठाई का कारोबार है। रमेश की शादी तीन साल पहले हुई थी। उसका भी ग्राम विकास अधिकारी परीक्षा में सलेक्शन हो चुका था। कविता एक महीने पहले ही मौसी के यहां आई थी। इधर, घरवालों को सूचना मिलते ही वे राजस्थान के लिए रवाना हो गए है।

कार से हॉकी स्टिक और बेसबाल बल्ला बरामद

जानकारी के अनुसार एसयूवी कार से कुछ हॉकी स्टिक व बेसबाल बेट बरामद हुए हैं। हालांकि पुलिस ने अभी इस बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं दी है। इस बारे में पता लगाया जा रहा है।

जनप्रतिनिधिगण पहुंचे, मुआवजा और अन्य मांगे रखी

इधर घटना की जानकारी पर रालोपा के सुप्रीमो एवं नागौर सांसद हनुमान बेनिवाल, संपत पूनिया, विजय लक्ष्मी चौधरी, पूर्व विधायक जोगाराम पटेल, पुखराज गर्ग सहित अन्य कई लोग मथुरादास माथुर अस्पताल पहुंचे। इधर परिजन की तरफ से मृतकों के आश्रितों को 50-50 लाख मुआवजा, सरकारी नौकरी, मर्डर में शामिल लोगों को गिरफ्तार करने, कार पहले से ही रैकी कर रही थी, जिसकी जांच करने सहित अन्य कई मांगे रखी है। परिजन एवं ग्रामीणों का कहना है कि कार में तीन चार लोग सवार थे, जिनकी गिरफ्तारी करने के साथ कार की रैकी करने वालों की पहचान के साथ कार मालिक का पता लगाया जा जाए। कार में नंबर प्लेट भी नहीं लगी है। कार मालिक का इसमें क्या रोल है इसका भी पता लगाया जाए एवं गिरफ्तार किया जाए।

नहीं हुआ पोस्टमार्टम,शव मोर्चरी में

मृतका कविता और रमेश के शव एमडीएम अस्पताल की मोर्चरी में रखे हुए हैं। इनका सोमवार को पोस्टमार्टम भी नहीं हो पाया। शव अभी नहीं उठाए गए हैं। मामला मंगलवार तक सुलझे ऐसे आसार कम ही नजर आते हैं।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews