Gausseva by San Samaj

जोधपुर, कामधेनु गौ सेवा ग्रुप एवं सैन विकास संस्थान रातानाडा के संयुक्त तत्वावधान में शिकारगढ स्थित श्रीकृष्ण चांद कंवर गौशाला में गायों को हरा रिजका एवं गुड़ खिलाया। सैन विकास संस्थान के समस्त कार्यकर्ताओं ने गौशाला में भ्रमण कर गौशाला की व्यवस्थाओं को देखा। सैन विकास संस्थान के पदाधिकारियों ने बताया कि गौ सेवा करना हम सभी का परम कर्तव्य है। आज भी भारतीय समाज में गाय को गौ माता कहा जाता है।

Gausseva by San Samaj

शास्त्रों के अनुसार, ब्रह्माजी ने जब सृष्टि की रचना की थी तो सबसे पहले गाय को ही पृथ्वी पर भेजा था। सभी पशुओं में मात्र गाय ही ऐसी है जिसके लिए मां शब्द का उच्चारण होता है। माना जाता है कि मां शब्द की उत्पत्ति भी गौवंश से हुई है। इसलिए सभी का परम कर्तव्य माँ की सेवा करना है।

इस अवसर पर संस्थान के मूलाराम पँवार, ओमप्रकाश पँवार भावला, विष्णुप्रिया बनभेरू, पर्वत कुमार लवेरा,बेबी देवी,ओमप्रकाश नादड़ा, अविनाश सैन पलाड़ा, शैलेन्द्र बनभेरू, उमेदराम खेजड़ला, मोक्ष बनभेरू उपस्थित थे।

ये भी पढ़े – विप्र फ़ाउण्डेशन महिला प्रकोष्ठ का ऑनलाइन परशुराम जन्मोत्सव का आयोजन