फर्जी नागा बाबा ने आशीर्वाद के नाम पर होटल संचालक से उड़ाई डेढ़ लाख की चेन

फर्जी नागा बाबा ने आशीर्वाद के नाम पर होटल संचालक से उड़ाई डेढ़ लाख की चेन

सेेंट्रो कार में सवार होकर आया एक नागा बाबा और दो अन्य की करतूत

जोधपुर, शहर के निकटवर्ती डांगियावास बाइपास रोड खारडा रणधीर की सरहद में सेंट्रो कार में आए एक फर्जी नागा बाबा और उसके दो साथियों ने धोखे से होटल संचालक को आशीर्वाद के नाम पर डेढ़ लाख की सोने की चेन लेकर चंपत हो गए। पीड़ित और उसके परिचित ने बाद में अपनी कार से उनका पता लगाने का प्रयास किया। मगर फर्जी नागा बाबा और उसके साथियों का पता नहीं चल पाया। पीडि़त ने एयरपोर्ट थाने में धोखाधड़ी में केस दर्ज कराया है।
एयरपोर्ट थाने एएसआई भंवराराम ने बताया कि घटना के संबंध में फिटकासनी कुड़ी निवासी सहीराम पुत्र बिरमाराम विश्रोई की तरफ से रिपोर्ट दी गई। इसमें बताया कि मंगलवार को वह अपने परिचित बिरमाराम के साथ शादी समारोह से लौट कर घर आया था।

वह डांगियावास बाइपास के निकट खारडा रणधीर की सरहद में एक होटल चलाता है। यहां पर कुछ देर रूकने के बाद दोनों पास में ही बिरमाराम के घर चले गए। तब पीछे से एक सेंट्रो कार आई। इस कार में पीछे की सीट पर एक नागा बाबा बैठा था और दो अन्य युवक भी सवार थे। यह लोग पहले से ही संभवत: पीछे से आ रहे थे। बिरमराम के घर तक आने पर नागा बाबा बने शातिर ने सहीराम को आशीर्वाद दिया। इस पर सहीराम ने दान दक्षिणा स्वरूप उसे रूपए देने चाहे। तब नागा बाबा ने कहा कि रूपए तो उसके काफी पड़े हैं, बाबाओं को रूपयों से कोई मोह नहीं है। देना ही चाहता है गुरू की सेवा के लिए तो गले में पहने चैन दे दे। झांसे में आए सहीराम ने अपने गले में पहनी तीन तोला वजनी सोने की चेन उतार कर दे दी। बाद में बाबा ने फिर कल्याण होने का आशीर्वाद दिया और कार में सवार होकर भाग निकले।

इस घटना को सहीराम ने अपने परिचित बिरमाराम को बताया तब पता लगा कि उनके साथ धोखा हुआ है। बाबा फर्जी था। इस पर दोनों अपनी कार लेकर फर्जी नागा बाबा की तलाश में गए। मगर उनका रात तक पता नहीं चल पाया। इस बीच पुलिस को भी सूचना मिलने पर मौका पर पहुंची और कार के लिए नाकाबंदी करवाई गई। एएसआई भंवराराम ने बताया कि आस पास के लोगों से पूछताछ में पता लगा कि संभवत: तीनों बदमाश नजदीक एक महादेव धूणा पर रूके थे। मगर वे नहीं मिले। घटना में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। फर्जी नागा बाबा और उसके साथियों की तलाश की जा रही है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews