controversy-deepens-over-resettlement-of-cheetahs-in-kurno-national-park

चीतों को दोबारा कू्रनो नेशनल पार्क में बसाने को लेकर विवाद गहराया

विश्रोई समाज ने राष्ट्रपति के नाम दिया ज्ञापन

जोधपुर,देश में लुप्त हुए चीतों को दोबारा मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में बसाने को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इन 8 चीतों का शिकार बनने के लिए मध्यप्रदेश के राजगढ़ वन मंडल से 181 चीतल कूनो भेजे गए। इस फैसले से वन्यजीव रक्षा के लिए पहचान रखने वाला बिश्नोई समाज आहत है। समाज के लोगों ने आज जिला कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम पर ज्ञापन सौंपा है।
ज्ञापन में कूनो नेशनल पार्क में चीतों को बसाने को लेकर चीतल आदि परोसे जाने को लेकर विरोध जताया गया है। जिला कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम से समाज की तरफ से यह ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन देने वालों में समाज के कई लोग मौजूद थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 सितंबर को श्योपुर एमपी के कूनो नेशनल पार्क में नामीबिया से लाए 8 चीतों को छोड़ा। राजगढ़ वन मंडल के वन परिक्षेत्र नरसिंहगढ़ के अधिकारी गौरव गुप्ता ने बताया कि वन क्षेत्र से 181 चीतल कूनो भेजे गए हैं। अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा के अध्यक्ष देवेंद्र बुडिय़ा ने प्रधानमंत्री और वन मंत्री भूपेंद्र यादव को पत्र लिखकर चीतों को चीतल न परोसने की अपील की है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews