मुख्यमंत्री 2 नवंबर से तीन दिन के लिए जोधपुर प्रवास पर

मुख्यमंत्री 2 नवंबर से तीन दिन के लिए जोधपुर प्रवास पर

जोधपुर, प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 2 नवंबर को जोधपुर आएंगे। वे चार नवंबर तक यहां पर रहेंगे और कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। वे करीब सवा साल बाद अपने गृह नगर जोधपुर आएंगे। कांग्रेस संगठन व जिला प्रशासन ने उनकी यात्रा की तैयारी शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री गत वर्ष अगस्त में रक्षा बंधन के कुछ दिन बाद जोधपुर आए थे। उन्होंने कोरोना से निपटने के लिए जोधपुर में किए जा रहे उपायों की समीक्षा बैठक में हिस्सा लिया। इसके बाद वे अपनी बहन से राखी बंधवाकर जयपुर प्रस्थान कर गए थे।

उनके जयपुर पहुंचने के कुछ दिन के अंतराल में कांग्रेस के कुछ विधायकों ने सचिन पायलट के नेतृत्व में बगावत कर दी। सरकार पर मंडरा रहे खतरे और बाद में करोना के कारण गहलोत जयपुर से बाहर ही नहीं निकल पाए। इस कारण उनका जोधपुर आने का कार्यक्रम नहीं बन पाया। हालांकि कुछ दिन पहले वह जोधपुर जिले के चाडी गांव में पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा के निधन पर शोक संवेदना प्रकट करने आए थे, लेकिन वहां से सीधे वापस जयपुर चले गए।

तीन दिन की यात्रा को दिया जा रहा अंतिम रूप

उनकी 2 नवम्बर से तीन दिवसीय जोधपुर यात्रा के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। दो नवंबर को यहां आने के बाद वे पार्टी कार्यकर्ताओं के स्नेह मिलन की तर्ज पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे और सभी से मुलाकात करेंगे। कांग्रेस ने संगठन स्तर पर इस आयोजन की तैयारी शुरू कर दी है। इसे लेकर एक बैठक भी हो चुकी है।

प्रशासन शहरों के संग कार्यक्रमों की करेंगे समीक्षा

इसके साथ ही वे प्रशासन शहरों व गांवों के संग अभियान में जोधपुर में अब तक किए गए कार्यों की विस्तार से समीक्षा करेंगे। वे शहर में चल रहे विकास कार्यों का फीडबैक लेंगे। दीपावली के अवसर पर वे शहर को कुछ नई सौगात भी प्रदान कर सकते हैं। प्रशासनिक स्तर पर इसको लेकर तैयारियां की जा रही हैं।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews