गुरू पुष्य नक्षत्र पर बाजारों में बूम.. जमीं पर उतरी लक्ष्मी

गुरू पुष्य नक्षत्र पर बाजारों में बूम.. जमीं पर उतरी लक्ष्मी

जोधपुर, दीपावली आने में अब महज कुछ दिन शेष है। मगर गुरूवार को गुरू पुष्य नक्षत्र होने से बाजारों में बूम देखने को मिला। एक ही दिन में करोड़ों का कारोबार हो गया। ज्वैलरी, कपड़ा और इलेक्ट्रानिक पर आज अच्छी खासी खरीददारी हो गई। सुबह से ही लोगों ने अपने अपने हिसाब से खरीददारी का मानस बना लिया। दोपहर तक बाजार गुलजार हो गए। सजे बाजारों में दीपावली से पहले ही अच्छी रौनक बन गई।

शादी वाले घरों में खूब बुकिंगे और खरीद फरोख्त हुई। सुबह बाजार खुलने के साथ ही लोगों का विशेष कर महिलाओं का हुजूम उमड़ पड़ा। शहर के ज्वैलरी, इलेक्ट्रानिक, ऑटो बाइक, कपड़ा बाजार के साथ ही फर्नीचरों की दुकानों पर काफी भीड़ देखने को मिली। सबसे ज्यादा खरीद इलेक्ट्रानिक उत्पादों की देखने को मिली। शादी वाले घरों की गृहणियां कपड़ों की खरीद के लिए उमड़ पड़ी। पुष्य नक्षत्र को ज्योतिषियों की तरफ से सबसे शुभ नक्षत्र की संज्ञा दी गई है। इस दिन सभी प्रकार के मांगलिक कार्यारंभ को अच्छा माना जाता है।

चंद्रमा के खुद की राशि कर्क और उसमें वृहस्पति देव का उच्च में विराजमान होना सदैव योगकारी माना जाता है। इसी राशि में वृहस्पति देव उच्चस्थ होते है। वैसे अभी वे नीचस्थ राशि मकर में चल रहे हैं। मगर उनका कर्क अपनी उच्च राशि पर सीधा दृष्टिपात होने से उच्चत्व को बल देता है। चंद्रमा कर्क में भ्रमण और दृष्टिपात के साथ शनि के प्रिय नक्षत्र पुष्य का संयोग विशेष योगकारी माना जाता है। आज इसी का संयोग बना हुआ है। तीन ग्रहों का संयोग एवं दृष्टिपात से इस नक्षत्र को बल प्राप्त होता है। शनि भी मकर राशि में योगकारी वृहस्पति के साथ है। तीनों का संयोग विशेष फलदायी ज्योतिषीय भाषा में कहा गया है। कई राशियों को आज गजकेसरी योग का निर्माण हुआ है। जो किसी को भी राजा के तुल्य जीवन देता है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की।एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews