पुलिस निरीक्षक पर डंपर चढ़ाने का प्रयास

पुलिस निरीक्षक पर डंपर चढ़ाने का प्रयास

  • बजरी माफिया की कारस्तानी
  • एस्कार्ट कर रही कार सहित खाली डंपर जब्त
  • डंपर में भरी बजरी को बीच रास्ते खाली किया

जोधपुर, शहर में बजरी के अवैध खनन और कारोबार पर पुलिस अंकुश लगाने का भरसक प्रयास कर रही है। बजरी माफिय मुख्य मार्गों से नहीं निकल कर गलियों का सहारा लेकर अवैध बजरी से भरे डंपरों को पार लगाने में लगे हैं। बनाड़ पुलिस एक ऐसे ही अवैध बजरी से भरे डंपर का पीछा किया। पुलिस को आते देख बीच रास्ते ना सिर्फ डंपर को खाली कर दिया गया बल्कि पुलिस निरीक्षक को जान से मारने की कोशिश भी की गई। अंतत: पुलिस ने पीछा कर डंपर को पकड़ा। साथ ही एक एस्कार्ट कर रही कार को भी पकड़ा गया। दो लोगों को गिरफ्तार करने के साथ खनिज का अवैध खनन और आमजन की जान को जोखम में डालने और सरकारी कामकाज में दखल का केस बनाया गया। एस्कार्ट कर रही कार को भगाने वाला एक शख्स फरार हो गया। जिसकी पहचान के साथ तलाश की जा रही है। घटना रविवार को हुई।

बनाड़ थानाधिकारी सीताराम खोजा ने बताया कि वे मयजाब्ते के गश्त पर थे। तब डिगाड़ी रोड पर एक अवैध बजरी से भरा डंपर गलियों से होता हुआ सड़क़ पर आ गया। इस पर उसे रोकने का इशारा किया गया। मगर उसका चालक डंपर को भगाने के साथ आंगणवा, माता का थान होते हुए जाजीवाल ब्राह्माण गांव की तरफ गया। इस डंपर के साथ एक स्कार्पियो भी एस्कार्ट कर चल रही थी।

डंपर के चालक ने गाड़ी में भरी अवैध बजरी को बीच रास्ते खाली करता चला गया। आखिरकार पुलिस ने उसे जाजीवाल ब्राह्माण गांव में दबोच लिया। डंपर चालक पीपाड़ शहर के रामड़ावास निवासी राकेश पुत्र सही राम विश्रोई को पकड़ा गया। इस डंपर को पहले झंवर के जोलियाली आथुनी निवासी पुखराज विश्रोई पुत्र मांगी लाल चला रहा था। तब वह बीच रास्ते से उतरकर एस्कार्ट कर रही स्कार्पियो में सवार हो गया।

इस बीच आरोपियों ने पुलिस की गाड़ी को टक्कर मारने के साथ डंपर चढ़ाने का भी प्रयास किया। मगर गनीमत रही कि पुलिस को चोट नहीं लगी। बाद में पुखराज एस्कार्ट कार में बैठकर भाग गया। तब स्कार्पियो का भी पीछा किया। मगर उसमें सवार पुखराज को पकड़ लिया गया। इस गाड़ी में एक शख्स रवि माली था जो स्कार्पियो लेकर भाग निकला। मगर बाद में पुलिस ने स्र्कािर्पयो को भी जब्त कर लिया। रवि माली की तलाश की जा रही है। थानाधिकारी सीताराम ने बताया कि घटना में अब राकेश विश्रोई और पुखराज विश्रोई को गिरफ्तार किया गया है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews